close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा के नूंह में भिड़े बीजेपी और जेजेपी कार्यकर्ता, तमाम गाड़ियों में हुई तोड़फोड़, कई कार्यकर्ता घायल

गुरुवार को दोपहर करीब 12 बजे बीजेपी-जेजेपी (BJP-JJP) के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में नूंह (Nuh) में अपनी-अपनी पार्टी के नेताओं के नामांकन (nomination) दाखिल करने के लिए पहुंचे थे

हरियाणा के नूंह में भिड़े बीजेपी और जेजेपी कार्यकर्ता, तमाम गाड़ियों में हुई तोड़फोड़, कई कार्यकर्ता घायल
नामांकन से पहले ही दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को 'ताकत' दिखाई

अनिल मोहनिया, नूंह: हरियाणा में विधानसभा चुनावों (Haryana Assembly Election) की घोषणा होते ही पहले तो राजनीतिक पार्टियों में दल-बदल का खेल शुरू हुआ. उसके बाद पार्टियों के बीच सड़क पर जंग भी शुरू हो गई है. गुरुवार को हरियाणा (Haryana) के नूंह (Nuh) में बीजेपी (BJP) और जेजेपी (JJP) के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. इस झगड़े (clash) में कई लोगों के घायल होने और कई वाहनों के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिली है. झगड़े की सूचना मिलते ही मौके पर भारी पुलिस बल (Police force) तैनात कर दिया गया था.

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को दोपहर करीब 12 बजे बीजेपी-जेजेपी (BJP-JJP) के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में नूंह (Nuh) में अपनी-अपनी पार्टी के नेताओं के नामांकन (nomination) दाखिल करने के लिए पहुंचे थे. दोपहर के समय जब बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता गुरुग्राम-अलवर मार्ग पर स्थित जेजेपी (JJP) कार्यालय के सामने से गुजर रहे थे तभी जोश में दोनों दलों के नेता आपस में भिड़ गए. इस झगड़े में लाठी-डंडा तो चला ही इसके साथ ही पथराव (stone pelting) तक हुआ. इस झगड़े (clash) में न केवल आधा दर्जन गाड़ियां (vehicle) क्षतिग्रस्त हुईं बल्कि कई कार्यकर्ताओं को चोट आने की खबर भी मिल रही है.

देखें लाइव टीवी

झगड़े (clash) के दौरान सड़क पर जाम का नजारा भी देखने को मिला. इसके कुछ देर बाद दोबारा बस अड्डा (bus station) के समीप दोनों दलों के वर्कर (worker) आपस में भिड़ गए. हालात को भांपते हुए भारी पुलिस बल (police force) मौके पर पहुंचा. उसके बाद मामला तो शांत हो गया, लेकिन तनाव (tension) अभी बरकरार है. आपको बता दें कि गुरुवार को बीजेपी (BJP) नेता चौधरी जाकिर हुसैन और जेजेपी (JJP) उम्मीदवार तैयब हुसैन घासेड़िया को अपना पर्चा दाखिल करना था. जिसमें दोनों नेता भीड़ जुटाकर अपनी ताकत दिखाना चाहते थे, लेकिन नामांकन से पहले ही दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को तो ताकत दिखाई बल्कि गाड़ियों पर भी तोड़फोड़ कर अपना गुस्सा (anger) जाहिर किया.

दोनों राजनीतिक पार्टियों (politcal parties) के कार्यकर्ताओं के बीच हुए इस घमासान का नजारा देखकर मुख्य मार्ग से गुजर रहे वाहन चालकों एवं अन्य राहगीरों की सांसे अटक गई थी. यह तो नामांकन से पहले का नजारा है. अगर पुलिस बल (police force) ने सख्ती नहीं दिखाई तो आगे झगड़ा बढ़ने से इंकार नहीं किया जा सकता.