इस राज्य में बस में सफर करना होगा बेहद आसान, शुरू की गई कंडक्टर मित्र योजना

GSRTC द्वारा एक सर्वे किया गया है जिसमे 48000 से अधिक प्रतिदिन बसें ट्रिप कर रही है.

इस राज्य में बस में सफर करना होगा बेहद आसान, शुरू की गई कंडक्टर मित्र योजना
(फाइल फोटो)

आशका जानी, गुजरात: आम तौर पर राज्य के लोग सफर के लिए गुजरात में GSRTC का उपयोग करते है. जब GSRTC ने यात्री राहत के लिए एक अनोखा प्रयास शुरू किया है. यात्रियों को राहत देने के लिए GSRTC द्वारा कंडक्टर मित्र योजना शुरू की गई है. ये कंडक्टर मित्र योजनाएं क्या हैं, यात्रियों को इससे क्या लाभ होगा ये जानिये. बरसो पुराने पिक उप पॉइंट से चिपके रहने के बदले निजी ट्रेवल्स के साथ स्पर्धा में टीके रहने और नई नई सुविधाएं देने के लिए GSRTC द्वारा भी नई नई योजना और सुविधाएं पूरी की जा रही है. किसी भी शहर के पिक उप पॉइंट को जीवित करने के प्रयास किये जा रहे है.

हर दिन 20 लाख से अधिक यात्री GSRTC बस सेवा का लाभ उठा रहे हैं. इनमें से, केवल 7 लाख यात्री मुख्य बस स्टैंड का उपयोग करते हैं, जबकि अन्य 13 लाख यात्री बस स्टॉप का उपयोग करते हैं. ये 13 लाख यात्रियों को उचित व्यवस्था मिले इसके लिए GSRTC ने एक नई योजना "कंडक्टर मित्र योजना" शुरू की है. इस योजना के तहत, सेवानिवृत्त कंडक्टरों और नौ युवाओं को रोजगार दिया जा रहा है.

यात्रियों के लिए निजी वाहनों का उपयोग करने के बजाय सरकारी बसों का उपयोग करने के लिए मना रहे है. साथ ही किस समय पर बस, बस स्टैंड पर आएगी और बस में कितनी सीटें खाली हैं कंडक्टर मित्र द्वारा यात्रियों को ऐसी सभी जानकारी दी जायगी, जिससे यात्रियों के लिए सरकारी बसों का उपयोग करना आसान हो जाएगा.

हालही में GSRTC द्वारा एक सर्वे किया गया है जिसमे 48000 से अधिक प्रतिदिन बसें ट्रिप कर रही है. उसमे मुसाफिरी करने वाले मुसाफिरों को ज्यादा से ज्यादा व्यवस्था का लाभ मिले जिसमे ऑनलाइन टिकट बुकिंग, बस का लाइव लोकेशन और रियल टाइम और बस कितने बजे आएगी और कितनी सीटें खाली है साथ ही तुम्हे तुम्हारे ड्राप पॉइंट पर कितने बजे उतारेगी इसकी जानकारी और कंडक्टर मित्र से आप टिकट भी खरीद सख्ते हो जिसकी भरपाई पर कॅश या कार्ड से कर सकते हो.

इसके अलावा, gsrtc ने प्रतिदिन यात्रियों की संख्या को देखते हुए कंडक्टर मित्र योजना को लागू किया है. मौजूदा प्राथमिक सुविधाओं को प्राप्त करने के उद्देश्य से 250 स्थानों पर यह सेवा शुरू की जा चुकी है. जिसमे अहमदाबाद के कई स्थलों को शामिल किया गया है. आने वाले दिनों में यात्रियों को 1000 स्थानों पर इस सेवा का लाभ मिलेगा.

अधिक से अधिक यात्री इस योजना का लाभ उठा रहे हैं और उनका मानना है कि इस सेवा से उन्हें अत्यधिक फायदा होता है. साथ ही उनके समय की भी बचत हो रही है. gsrtc ने इस कंडक्टर मित्र योजना में सेवानिवृत्त कंडक्टर और उनके साथ जुड़ने वाले युवाओं को इस काम में हर एक टिकट पर कमीशन दिया जाता है. GSRTC द्वारा 3.5 फीसदी कमीशन दिया जाता है. साथ ही उनकी पहचान के लिए यूनिफार्म के लिए टी-शर्ट, टोपी और आईकार्ड दिए गए है.

यात्री gsrtc द्वारा शुरू की गई योजना का स्वागत कर रहे हैं और उनका मानना है कि gsrtc का टैग लाइन है "सलामत सवारी एस टी हमारी" जिसको सच साबित कर रहे है. इस योजना के तहत, gsrtc के कंडक्टर मित्र महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और राजस्थान इन तीनों राज्यों में कई स्थानों पर यात्रियों की सेवा में मौजूद रहेंगे.