महाराष्ट्र मुद्दा: लोकसभा के अंदर कांग्रेस सांसदों ने लहराई तख्तियां, मार्शल्स ने किया बाहर

लोकसभा अध्यक्ष ने हंगामा करने वाले सांसदों को सदन से बाहर करने के लिए मार्शल्स को आदेश दिए.

महाराष्ट्र मुद्दा: लोकसभा के अंदर कांग्रेस सांसदों ने लहराई तख्तियां, मार्शल्स ने किया बाहर
(फोटो: ANI)

नई दिल्ली: कांग्रेस ने महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (BJP) द्वारा सरकार बनाए जाने के खिलाफ सोमवार को संसद में प्रदर्शन किया. कांग्रेस सांसद महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष जमा हुए और उन्होंने 'मोदी सरकार शेम शेम' और 'लोकतंत्र बचाओ' के नारे लगाए. पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हुईं.

सदन के अंदर कांग्रेस के दो सांसदों टी.एन. प्रथपन और हिबी ईडन ने एक बड़ा बैनर लहराया, और अन्य सांसदों ने भी मोदी सरकार के खिलाफ तख्तियां लहराई और नारेबाजी की. सांसदों ने कहा कि "महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या की गई है."

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने उस समय कांग्रेस के दो सदस्यों के नाम लिए, जब उन्होंने बैनर हटाने के उनके अनुरोध को अनसुना कर दिया.

दोनों सांसदों ने संसद अध्यक्ष के अनुरोध को मामने से इंकार कर दिया, तब बिड़ला ने उन्हें बाहर करने के लिए मार्शल्स को आदेश दिए.

इस दौरान कांग्रेस के सांसदों का वहां मौजूद मार्शल्स के साथ टकराव हुआ. इस दौरान लोकसभा में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के सदस्य नदारद रहे. जबकि महाराष्ट्र को लेकर कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन में नेशनल कॉन्फ्रेंस के सदस्य शामिल हुए.

संसद में यह विरोध प्रदर्शन ऐसे समय में हुआ है, जब सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र के मामले पर ही सुनवाई चल रही है.  इसके अलावा राज्यसभा सांसद बिनॉय विश्वम ने महाराष्ट्र सरकार गठन को लेकर नियम 267 के तहत राज्यसभा में सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस दिया है. महाराष्ट्र के मुद्दे पर विपक्ष के सांसदों ने उच्च सदन में जमकर नारेबाजी की. इसके चलते राज्यसभा को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

उल्लेखनीय है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अचानक बदले घटनाक्रम के तहत शनिवार सुबह देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री के रूप में और राकांपा के अजित पवार को उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई थी.

(इनपुट-आईएएनएस)