close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस खोज रही जिताऊ उम्मीदवार, अटकी रह गई लिस्ट

राजस्थान में निकाय चुनाव(Rajasthan Urban Body Elections) को लेकर कांग्रेस जिताऊ उम्मीदवारों की तलाश इतनी गहनता से कर रही है कि अभी तक नामों को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है. 

राजस्थान: निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस खोज रही जिताऊ उम्मीदवार, अटकी रह गई लिस्ट
प्रतीकात्मक फोटो

जयपुर: राजस्थान में निकाय चुनाव(Rajasthan Urban Body Elections) को लेकर कांग्रेस जिताऊ उम्मीदवारों की तलाश इतनी गहनता से कर रही है कि अभी तक नामों को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है. 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट(Sachin Pilot) के निर्देशों के बाद कांग्रेस(Congress) के सभी मंत्रियों और दिग्गज नेता स्थानीय स्तर पर जिताऊ उम्मीदवारों की खोज में जुटे हैं. चुनाव में नामांकन की आखिरी तारीख 5 नवंबर है ऐसे में संभावना है कि कांग्रेस के नामांकन की प्रक्रिया 4 नवंबर से ही शुरू हो पाएगी.

नहीं शुरू हो सका टिकट वितरण का काम
राजस्थान में इसी महीने होने वाले 49 निकाय चुनाव में नामांकन की आखिरी तारीख 5 नवंबर है. लेकिन इसके बावजूद अभी तक टिकट वितरण का काम(Distribution of Ticket) शुरू नहीं हो पाया है. 

सहमति बनाने का प्रयास है जारी
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट के निर्देशों पर सभी पदाधिकारी और प्रभारी मंत्री अलग-अलग जिलों में बैठकें लेकर नामों पर सहमति बनाने का प्रयास कर रहे हैं. कांग्रेस केवल जिताऊ उम्मीदवार को ही प्राथमिकता दे रही है. 

नामों के चयन का दिया गया निर्देश
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने इसके लिए स्थानीय स्तर पर ही नामों का चयन करने के निर्देश दिए हैं यानी फाइनल सूची ही पीसीसी तक आएगी उसके बाद नामों को अधिकारिक तौर पर जारी किया जाएगा.

एक दो दिन में किया जाएगा ऐलान
पीसीसी के संगठन महासचिव महेश शर्मा ने बताया कि जिला और निकाय स्तर पर नामों को लेकर लगभग सहमति बन गई है. कुछ निकायों को लेकर अभी काम चल रहा है एक-दो दिनों में कांग्रेस के सभी 49 निकायों के नामों का ऐलान कर दिया जाएगा. कल शनिवार में रविवार का अवकाश होने के चलते सोमवार 4 नवंबर से नामांकन शुरू होने की उम्मीद है.

उपचुनाव में प्रदर्शन के बाद उम्मीद बरकरार
लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद उपचुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है ऐसे में निकाय चुनाव से राजस्थान में कांग्रेस सरकार और संगठन को बहुत उम्मीदें हैं. यही वजह है कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने स्थानीय नेताओं प्रभारी मंत्रियों को ही प्रत्याशी चुनने की छूट दी है ताकि जनाधार मजबूत और जिताऊ उम्मीदवार को ही टिकट मिल सके. देखना होगा कांग्रेस की रणनीति निकाय चुनाव में कितना कामयाब हो पाती है.