महाराष्ट्र में BJP सरकार बनने का कांग्रेस ने NCP पर फोड़ा ठीकरा- 'जो हुआ उनकी वजह से हुआ'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना गठबंधन की ही सरकार बनेगी. बीजेपी सरकार को विश्वास मत में हराएंगे. 

महाराष्ट्र में BJP सरकार बनने का कांग्रेस ने NCP पर फोड़ा ठीकरा- 'जो हुआ उनकी वजह से हुआ'

मुंबई: बीजेपी (BJP) सरकार बनने के बाद कांग्रेस (Congress) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि शनिवार सुबह बिना बैंड बाजे के सीएम पद की शपथ हुई है. कांग्रेस ने कहा कि यह महाराष्ट्र (Maharashtra) के इतिहास का काला दिन है. कांग्रेस ने बीजेपी सरकार बनने का ठीकरा एनसीपी पर थोपते हुए कहा कि जो हुआ वह एनसीपी  (NCP)की वजह से हुआ. 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना (shiv sena) गठबंधन की ही सरकार बनेगी. बीजेपी सरकार को विश्वास मत में हराएंगे. उन्होंने कहा कि गठबंधन पर हमारी तरफ से कोई देरी नहीं हुई. अहमद पटेल ने दावा किया कांग्रेस विधायक नहीं टूटने वाले हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस राजनीतिक और कानून दोनों लड़ाई लड़ेगी. अहमद पटेल ने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी साथ हैं. 

अहमद पटेल ने सफाई दी कि गठबंधन बनने में कांग्रेस की वजह से कोई देरी नहीं हुई. दिन फ़ोन के बाद ही हम यहाँ पहुंच गए हमारी तरफ से देरी नहीं हुई ,प्रक्रिया में जो समय लगना चाहिए था वही लगा. एक दो मुद्दों पर ज्यादा चर्चा की जरूररत थी इसलिए हम 12 बजे मिलने वाले थे. इससे पहले आज सुबह जो कांड हुआ उसकी आलोचना करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. एनसीपी से कुछ लोग बाहर निकले, उन्होंने एक लिस्ट दे दी.

बता दें इससे पहले शिवसेना और एनसीपी ने भी एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में उद्धव ठाकरे और शरद पवार मौजूद थे. 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दावा किया कि बीजेपी और अजित पवार सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे, अंतिम बाजी हम ही जीतेंगे. शरद पवार ने कहा कि हम बीजेपी के सख्त खिलाफ है. उन्होंने फिर दोहराया कि अजित पवार ने खुद बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया. शरद पवार ने कहा है कि यह सुबह ही पता चल गया था कि कोई दूसरा सरकार बनाने जा रहा है.

शरद पवार ने कहा कि कुछ विधायकों को सुबह अजित पवार ले गए जबकि इन विधायकों को यह अंदाजा नहीं था कि उन्हें किस लिए ले जा जाया जा रहा है. इस कॉन्फ्रेंस के दौरान कुछ एनसीपी विधायकों ने अपनी बात भी रखी.

वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि 'आज जो हुआ उससे यही लगता है कि अब आगे चुनाव नहीं करवाए जाने चाहिए. उन्होंने कहा ऐसा लगता है कि अब सीधे ही सरकार बनवानी चाहिए. '