close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सातारा लोकसभा का उपचुनाव होगा तगड़ा, BJP के उदयन राजे को टक्कर देंगे पृथ्वीराज चव्हाण: सूत्र

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक छत्रपति के वंशज उदयन राजे भोसले को महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण (Prithviraj Chavan) चुनौती देंगे. 

सातारा लोकसभा का उपचुनाव होगा तगड़ा, BJP के उदयन राजे को टक्कर देंगे पृथ्वीराज चव्हाण: सूत्र
कांग्रेस पृथ्वीराज चव्हाण को बीजेपी के उदयन राजे भोसले के खिलाफ उतारने की तैयारी कर रही है

नई दिल्ली: महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में बड़ा नाम और एनसीपी (NCP) नेता उदयन राजे भोसले बीजेपी (BJP) में शामिल हो गए हैं. शनिवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) की मौजूदगी में उदयन राजे ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थे. अब कांग्रेस के अंदरुनी सूत्रों से जानकारी सामने आ रही है कि कांग्रेस (Congress) सातारा लोकसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी के उदयन राजे भोसले के खिलाफ कांग्रेस पृथ्वीराज चव्हाण को उतारने की तैयारी कर रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक छत्रपति के वंशज उदयन राजे भोसले को महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण (Prithviraj Chavan) चुनौती देंगे. बताया जा रहा है कि पृथ्वीराज चव्हाण के पास कांग्रेस हायकमांड का आदेश आया है कि उन्हें सातारा लोकसभा (Lok Sabha) से उपचुनाव लड़ना है. आपको बता दें कि फिलहाल सातारा लोकसभा सीट एनसीपी के कोटे में, लेकिन अब इन बदले हालातों में एनसीपी सातारा लोकसभा सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने को तैयार है.

गौरतलब है कि शिवाजी महाराज के 13वें वंशज उदयन राजे भोसले ने एनसीपी सांसद पद से शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया था. उदयन राजे ने अपना इस्तीफा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) को दिया था. इस्तीफा देने के अगले ही दिन शनिवार को उदयन राजे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गए.

देखें लाइव टीवी

आपको बता दें कि सतारा से तीन बार के सांसद उदयनराजे भोसले छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज हैं. उन्होंने 2009, 2014, और 2019 लोकसभा चुनाव सतारा सीट से जीते हैं. राजे के बीजेपी में शामिल होने को मराठा वोट बैंक को अपनी तरफ खींचने की पार्टी की कोशिशों से जोड़कर देखा जा रहा है. उदयनराजे भोसले के बीजेपी में आने से पार्टी को मराठा वोट बैंक को साधने के लिए एक और मौका मिला है. इससे पहले मराठा समाज को आरक्षण देकर बीजेपी की फडणवीस सरकार ने अहम राजनैतिक दांव चला था. अब छत्रपति के वंशज उदयनराजे भोसले भी बीजेपी के साथ आए है. उदयन राजे भोसले 1995 में बीजेपी के विधायक भी रहे है और 1995 में बनी महाराष्ट्र की बीजेपी-शिवसेना सरकार में राज्यमंत्री भी रह चुके हैं.