close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव पहले सीपी जोशी गुट ने दिखाए तीखे तेवर, कहा...

सीपी जोशी गुट ने अपने इरादे साफ करते हुए संकेत दे दिए हैं की आरसीए के चुनाव अपने तय समय 27 सितम्बर को ही करवाए जाएंगे.

राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव पहले सीपी जोशी गुट ने दिखाए तीखे तेवर, कहा...
जल्द नये चुनाव अधिकारी के साथ ही नया चुनावी कार्यक्रम भी जारी कर दिया जाएगा.

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव में अब सीपी जोशी गुट ने अपने तीखे तेवर साफ कर दिए हैं. शनिवार को सीपी जोशी गुट ने आरसीए एकेडमी पर एक शक्ति प्रदर्शन करते हुए तमाम जिला संघों के पदाधिकारियों के साथ एक मीटिंग की. इस बैठक में करीब एक दर्जन से ज्यादा जिला संघों के पदाधिकारी पहुंचे. वहीं, अन्य पदाधिकारियों से इस दौरान फोन पर बात की गई. सीपी जोशी गुट ने अपने इरादे साफ करते हुए संकेत दे दिए हैं की आरसीए के चुनाव अपने तय समय 27 सितम्बर को ही करवाए जाएंगे. इसके साथ ही जल्द नये चुनाव अधिकारी के साथ ही नया चुनावी कार्यक्रम भी जारी कर दिया जाएगा.

दूसरी ओर, कोटा जिला संघ के सचिव अमीन पठान ने कहा कि 'विरोधी गुट से अब किसी भी प्रकार से समझौते का कोई सवाल ही नहीं उठता है. जिन लोगों ने 6 साल तक राजस्थान की क्रिकेट को बर्बाद किया है, उनसे समझौता करने का सवाल ही नहीं उठता है. इसके साथ ही अमीन पठान ने कहा कि प्रदेश में क्रिकेट को पटरी पर लाने के लिए कुछ कड़े फैसले लेने होंगे. इसी को लेकर शनिवार को बैठक भी की गई. इसके साथ ही रजिस्ट्रार को नये चुनाव अधिकारी की नियुक्ति को लेकर पत्र लिखा जा चुका है. चुनाव अधिकारी की नियुक्ति के लिए अब बीसीसीआई की अनुमति की भी कोई जरुरत नहीं है. ऐसे में चुनाव समय पर होंगे और बिना किसी विवाद के सम्पन्न होंगे.

साथ ही, सचिव अमीन पठान ने कहा कि 'बीसीसीआई जो भी निर्देश देगी उसी के अनुसार काम किया जाएगा. कॉर्पोरेटिव सोसायटी के रजिस्ट्रा को भी पूरा पावर होता है. ऐसे में जो भी आदेश होंगे उनकी पालन होगी. सीपी जोशी ने राजस्थान की क्रिकेट को फिर से पटरी पर लाने का काम किया. जब ललित मोदी अध्यक्ष बने तब से ही राजस्थान का क्रिकेट रुका है, लेकिन सीपी जोशी ने आईपीएल भी शुरू करवाए और आरसीए का निलंबन भी खत्म करवाया. ऐसे में अब फिर से राजस्थान क्रिकेट को बर्बाद नहीं होने दिया जाएगा और क्रिकेट फिर से राजस्थान में होगा शुरू'.

वहीं, अमीन पठान ने चुनाव अधिकारी कृष्णामूर्ति ने पर आरोप लगाते हुए कहा कि 'चुनाव अधिकारी के सभी मेल विरोधी गुट के एक ववील के पास जा रहे थे. ऐसे में उनकी निष्पक्षता पर सवाल उठाता है. जिसकी शिकायत बीसीसीआई और रजिस्ट्रार से कर दी गई है. ऐसे में नये चुनाव अधिकारी की घोषणा के साथ ही चुनाव 27 सितम्बर को ही करवाने की रणनीति तैयार कर ली गई है, लेकिन चुनाव कभी भी हो हम पूरी तरह से एक टीम के रूप में काम करेंगे. अध्यक्ष पद पर चाहे कोई भी नाम हो, एक टीम के रूप में काम किया जाएगा. हालांकि अमीन पठान ने भी आरसीए के चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है. अमीन पठान ने कहा की जो भी सदस्यों की मंशा होगी उसी के अनुरूप काम किया जाएगा.