close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डीडवाना में फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी का मिला शव, पुलिस ने शुरु की जांच

जानकारी में यह भी आया है कि मृतक भूपेंद्र सिंह सुजानगढ़ ब्रांच में कार्यरत था. वह अपने किसी निजी कार्य से डीडवाना आया था

डीडवाना में फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी का मिला शव, पुलिस ने शुरु की जांच
पुलिस ने कंपनी कर्मचारियों से पूछताछ शुरु कर दी है.

हनुमान तंवर/डीडवाना: खबर डीडवाना से है जहां नागौर रोड आरओबी के पास एक शव मिलने से सनसनी फैल गई है. जानकारी के अनुसार फ्लूट्रोन नाम की फाइनेंस कंपनी के ऑफिस के बाहर उसी के एक कर्मचारी जिसकी पहचान उपेंद्र सिंह निवासी नदबई भरतपुर के रूप में हुई है का शव मिला. सूचना पर पहुंची डीडवाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर डीडवाना बांगड़ अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है.

वहीं प्राथमिक पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली है कि कंपनी के 4 कर्मचारी छत पर सो रहे थे जिनमें से भूपेंद्र सिंह रात को मोबाइल पर किसी से बात कर रहा था. अन्य तीनों कर्मचारी रात को सो गए. लेकिन भूपेंद्र सिंह देर रात तक बात करता रहा सुबह कर्मचारियों को उसका शव बिल्डिंग के नीचे मिला. जिसकी जानकारी पुलिस को दी गई.

जानकारी में यह भी आया है कि मृतक भूपेंद्र सिंह सुजानगढ़ ब्रांच में कार्यरत था. वह अपने किसी निजी कार्य से डीडवाना आया था. 2 महीने पहले वह डीडवाना में ही कार्यरत था. पुलिस के मुताबिक प्रथम दृष्टया छत से गिरने से मौत प्रतीत हो रही है, क्योंकि छत की रेलिंग भी टूटी हुई मिली है. पुलिस कर्मचारियों से पूछताछ भी कर रही है. 

साथ ही, स्थानीय ने एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया गया ताकि घटनास्थल की बारीकी से जांच की जा सके. घटना की जानकारी मिलने के बाद डीडवाना एडिशनल एसपी हितेश आर्य भी मौके पर पहुंचे. घटना की जानकारी ली पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचना दे दी है और उनके पहुंचने का इंतजार किया जा रहा है.

नितेश आर्य एएसपी डीडवाना के मुताबिक सुबह हमे जानकारी मिली कि फ्लूट्रोन कम्पनी है जो पुलिया के नीचे फाइनेंस का काम करती है. उसके ऑफिस के सामने एक डेडबॉडी पड़ी है. यह सूचना मिलते ही एसएचओ मैं और डीवाईएसपी साहब आए और मौका मुआयना किया है. जिसके बाद मृतक की पहचान भूपेंद्र चौधरी के रूप में हुई है. इसके परिजनों को सूचित कर दिया है. इसके संबंध में आगे जांच की जा रही है.