दिल्ली में कोरोना के मामले 80 हजार के पार, रिकवरी रेट 61.48%

दिल्ली में 27 जून को कोरोना के 2948 नए मामले सामने आए.

दिल्ली में कोरोना के मामले 80 हजार के पार, रिकवरी रेट 61.48%

नई दिल्ली: दिल्ली में 27 जून को कोरोना के 2948 नए मामले सामने आए. वहीं 2210 मरीज इस बीमारी से ठीक हुए हैं. कोरोना से 24 घंटे में 66 मौतें हुई हैं. कुल मामलों की संख्या बढ़कर 80180 तक हो गई है. इसमें 49301 मरीज ठीक हुए हैं. वहीं 28329 एक्टिव केस हैं जिनका इलाज चल रहा है.  कोरोना से अब तक दिल्ली में कुल 2558 लोगों की मौत हुई है.

वहीं दिल्ली में एक दिन में सबसे ज्यादा आज 19180 टेस्ट हुए हैं. राजधानी में 17381 लोग होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करवा रहे हैं.

अभी कोविड अस्पतालों में 7343 बेड खाली हैं और 6068 बेड भरे हुए हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना से 66 लोगों की मौत हुई है. हालांकि दिल्ली के रिकवरी रेट में और सुधार हुआ है और यह बढ़कर 61.48 फीसदी हो गया है.

इस बीच कोविड-19 के प्रसार के व्यापक विश्लेषण के लिए शहर के कुछ इलाकों में शनिवार को सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण शुरू किया गया.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा, “सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण शनिवार से शुरू हो गया है और इसके दायरे में 20,000 लोग आएंगे. यह सर्वेक्षण घर-घर जाकर किया जा रहा है और इससे दिल्ली में कोरोना वायरस के प्रसार का स्तर पता चलेगा. ”

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार कोविड-19 मरीजों के लिए बिस्तरों और जांच की संख्या बढ़ाकर, घर में पृथक-वास कर रहे रोगियों को ऑक्सीमीटर एवं ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर्स मुहैया कराकर, प्लाज्मा थेरेपी उपलब्ध कराकर और सर्वेक्षण तथा जांच के जरिए इस वैश्विक महामारी से लड़ रही है.

इस बीच केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को दिल्ली में 10 हजार बिस्तरों वाले नए कोविड देखभाल केन्द्र का दौरा कर प्रबंधों की समीक्षा की.

दक्षिणी दिल्ली में बनाए गए इस विशाल केन्द्र के दौरे के दौरान शाह के साथ मुख्यमंत्री केजरीवाल भी मौजूद थे.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि शाह ने अपनी यात्रा के दौरान केन्द्र में चल रही तैयारियों का जायजा लिया.

छतरपुर इलाके में राधा स्वामी सत्संग व्यास के परिसर में बनाए गए इस केन्द्र में दो हिस्से होंगे. एक हिस्से में ऐसे रोगियों का इलाज किया जाएगा जिनमें लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं जबकि दूसरे हिस्से में कोविड स्वास्थ्य देखभाल केन्द्र होगा.

ये भी देखें: