गाजियाबाद में बाबा रामदेव पर FIR दर्ज करने की मांग, कोर्ट पहुंचा कोरोनिल का मामला

याचिकाकर्ता ने कहा कि ये लोग ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट का उल्लघन कर रहे हैं. इनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए.

गाजियाबाद में बाबा रामदेव पर FIR दर्ज करने की मांग, कोर्ट पहुंचा कोरोनिल का मामला
(फाइल फोटो)

गाजियाबाद: गाजियाबाद कोर्ट (Ghaziabad Court) ने बाबा रामदेव (Baba Ramved), आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) और अन्य के खिलाफ कोरोनिल टेबलेट (Coronil Tablet) बेचने के मामले में यूपी पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट दायर करने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई 6 जुलाई को होगी.

याचिकाकर्ता विष्णु कुमार गुप्ता वकील और पूर्व इनटेलीजेंस अफसर ने गाजियाबाद कोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि बाबा रामदेव, बालकृष्ण और अन्य ने बिना अथॉरिटी के इजाजत और बिना लाइसेंस लिए गाजियाबाद में दिव्य स्वासरी वटी और दिव्य कोरोनिल टैबलेट का विज्ञापन किया और दवाई बना रहे हैं. 

ये भी पढ़ें- कोरोनिल से कोरोना ठीक करने का दावा कर बुरे फंसे बाबा रामदेव, दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचा मामला

याचिकाकर्ता ने कहा कि ये एक बड़ा अपराध है और आम जनता से फर्जीवाड़ा करने का मामला बनता है. साथ ही ये लोग ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट का उल्लघन कर रहे हैं. इनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए.

याचिकाकर्ता विष्णु कुमार गुप्ता ने कोर्ट से ये भी कहा कि उन्होंने इस बाबत एसएसपी गाजियाबाद को लिखित शिकायत दी है और इन सब पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है. लेकिन, अभी तक पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है.