close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में डेंगू ने पसारे पैर, श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली भी हुए बीमार

जानकारी के मुताबिक मंत्री टीकाराम जूली को पहले काफी बुखार आया, इसके बाद चिकित्सकों की सलाह पर उन्होंने एसएमएस अस्पताल में डेंगू की जांच करवाई. 

राजस्थान में डेंगू ने पसारे पैर, श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली भी हुए बीमार
पिछले 20 दिनों में एसएमएस में डेंगू के 55 मरीज सामने आ चुके हैं.

जयपुर: राजस्थान में मौसमी बीमारियों का असर अब आम से खास पर भी देखने को मिल रहा है. राजस्थान सरकार के श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली को डेंगू की पुष्टि हुई है. जानकारी में आया है कि जूली ने एसएमएस अस्पताल में जांच करवाई जिसके बाद उनकी जांच रिपोर्ट में डेंगू की पुष्ठि हुई.

हालांकि, उनको डेंगू करीब 8 से 10 दिन पहले हुआ था और अब मंत्री जूली पूरी तरह स्वस्थ्य है और काम पर भी लौट चुके है. जानकारी के मुताबिक मंत्री टीकाराम जूली को पहले काफी बुखार आया, इसके बाद चिकित्सकों की सलाह पर उन्होंने एसएमएस अस्पताल में डेंगू की जांच करवाई. 

बता दें कि, राजस्थान में डेंगू अपने पांव पसारता जा रहा है. प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल में डेंगू के अलावा मलेरिया और स्क्रब टाइफस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. एसएमएस में इस महीने एसएमएस अस्पताल में डेंगू पीड़ित दो मरीजों की मौत भी हो चुकी है. 

हालांकि, चिकित्सा विभाग अब तक प्रदेश में एक मौत की पुष्टि कर रहा है. पिछले 20 दिनों में एसएमएस में डेंगू  के 55 मरीज सामने आ चुके हैं. जानकारी में सामने आया है कि प्रदेश में डेंगू के 100 से ज्यादा रोगी हैं. इसी तरह से एसएमएस अस्पताल में जहां जुलाई में 49 मरीज स्क्रब टाइफस के आए, वहीं इस महीने के 20 दिन में यहां स्क्रब टाइफस के 115 मरीज सामने आ चुके हैं. इस माह एसएमएस अस्पताल में चिकिनगुनिया के 32 मरीज पहुंचे. वहीं जुलाई और अगस्त में केवल 14 मरीज ही पहुंचे.

वहीं, साल 2019 में जयपुर शहर में डेंगू  के 363 मरीज पॉजिटिव पाए गए जबकि मलेरिया के 33 मरीज और चिकनगुनिया के 20 मरीज पॉजिटिव पाए गए है. प्रदेश में मौसमी बीमारियों को लेकर स्वास्थ्य भवन में चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने प्रदेश स्तरीय विडियो कोंफ्रेसिंग की. इस दौरान उन्होंने मौसमी बीमारियों की समीक्षा करते हुए जिला स्तर पर क्या कुछ तैयारियां प्रदेश में है इसको लेकर संबंधित फील्ड अधिकारीयों से फीडबैक लिया. विडियो कोंफ्रेसिंग के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री भवंर सिंह भाटी ,चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग समेत स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी मौजूद रहे.