close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डूंगरपुर: पाडली गुजरेश्वर उपसरपंच की दबंगई जारी, अनाथ बच्चे ठोकर खाने को मजबूर

जिले में ग्राम पंचायत पाडली गुजरेश्वर के उपसरपंच की दबंगई का मामला उपसरपंच ने तीन छोटे अनाथ बच्चों की जमीन हड़पकर दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर कर दिया है.

डूंगरपुर: पाडली गुजरेश्वर उपसरपंच की दबंगई जारी, अनाथ बच्चे ठोकर खाने को मजबूर
पीड़ित अनाथ बच्चों ने जिला प्रशासन से न्याय की गुहार लगाईं है. (प्रतीकात्मक फोटो)

अखिलेश शर्मा, डूंगरपुर: जिले में ग्राम पंचायत पाडली गुजरेश्वर के उपसरपंच की दबंगई का मामला उपसरपंच ने तीन छोटे अनाथ बच्चों की जमीन हड़पकर दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर कर दिया है.

उपसरपंच दीपक जोशी ने तीन छोटे अनाथ बच्चों की जमीन हड़पकर दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर कर दिया है. अनाथ बच्चे जानमाल की सुरक्षा और हड़पी गयी जमीन दिलाने के लिए अब दर-दर भटकते भटकने को मजबूर है. 

जानिए क्या है पूरा मामला
डूंगरपुर(Dungarpur) जिले की झोथरी पंचायत समिति की ग्राम पंचायत है पाडली गुजरेश्वर. ग्राम पंचायत का उपसरपंच दबंगई पर आमादा है और उसका ताज़ा शिकार है तीन अनाथ बच्चे रंजना, गौरव और रौनक पंचाल. बच्चों के पिता कचरू की मौत दो साल पहले हो गयी थी और मां का साया बच्चों के सिर से 5 साल पहले ही उठ गया था. लेकिन बदनसीबी का दौर अभी थमा नही था. बड़ी बहन रंजना की पढ़ाई छूट गयी है और गांव के घरों में काम कर के छोटे भाइयों का पेट पालती है बच्चों का पुश्तैनी कच्चा घर बारिश में ढह गया है. लेकिन तीनों अनाथ भाई बहिन टूटे घर में रात गुजारने को मजबूर है. वही इनकी पुश्तेनी खातेदारी जमीन पर पंचायत के उपसरपंच दीपक जोशी ने पद का दुरुपयोग करते हुए जालसाजी कर भूमि खुद के नाम होने के दस्तावेज हासिल कर लिए है.

उपसरपंच की दबंगई इतनी है कि उसने अब अनाथों की जमीन पर दुकान बनाना भी शुरू कर दिया है. अनाथ बच्चों की पैरवी करने वाले करने वाले कुछ लोग अगस्त माह में कलेक्टर से मिले थे. जिस पर धम्बोला पुलिस को जान माल की सुरक्षा और जांच के आदेश दिए गए थे. 

ग्रामीणों का कहना है कि बच्चों की पैरवी करने उनके लिए खतरा साबित हो रहा है और उन्हें ही डराया जा रहा है. इधर पीड़ित अनाथ भाई बहिन शुक्रवार को डूंगरपुर कलेक्ट्रेट पहुंचे और एडीएम को आपबीती सुनाते हुए न्याय की गुहार लगाई. जिस पर अतिरिक्त कलेक्टर ने संवेदनशीलता दिखाते हुए धम्बोला पुलिस और सीमलवाड़ा एसडीएम को तत्काल उपसरपंच के खिलाफ कार्रवाई और सुरक्षा और न्याय दिलाने सहित उनकी शिक्षा और सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए है.

बहरहाल उपसरपंच की दबंगई के चलते पीड़ित अनाथ बच्चों ने जिला प्रशासन से न्याय की गुहार लगाईं है. वहीं प्रशासन ने भी मामले में संवेदनशीलता दिखाते हुए अनाथ बच्चो को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है.