DUSU चुनाव: कांग्रेस ने कहा,'जब भी EVM में गड़बड़ी की खबर मिलती है,बीजेपी चुनाव जीतती है'

कांग्रेस ने मांग की कि मतपत्रों से चुनाव फिर से कराया जाए और मतगणना सीसीटीवी की निगरानी में हो. 

DUSU चुनाव: कांग्रेस ने कहा,'जब भी EVM में गड़बड़ी की खबर मिलती है,बीजेपी चुनाव जीतती है'
दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अजय माकन ने कहा कि पार्टी चुनाव रद्द कराने के लिए कानूनी विकल्पों पर भी विचार कर रही है.

नई दिल्ली: कांग्रेस ने शुक्रवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संघ (डूसू) चुनाव में इस्तेमाल में ली गईं इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में छेड़छाड़ का आरोप लगाया. कांग्रेस ने मांग की कि मतपत्रों से चुनाव फिर से कराया जाए और मतगणना सीसीटीवी की निगरानी में हो. कांग्रेसी ने आरोप लगाया कि जब भी ईवीएम में गड़बड़ी की खबर मिलती है, बीजेपी चुनाव जीतती है.

दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अजय माकन ने कहा कि पार्टी चुनाव रद्द कराने के लिए कानूनी विकल्पों पर भी विचार कर रही है. कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई ने डूसू चुनावों में केवल एक सीट हासिल की जबकि बाकी सीटें आरएसएस की छात्र इकाई एबीवीपी ने जीतीं.

अजय माकन ने कहा,‘हमारी मांग यह है कि दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव मतपत्रों से फिर से कराए जाएं और मतों की गणना सीसीटीवी की निगरानी में हो.’ माकन ने कहा,‘हम अदालत जाने के सभी पहलुओं पर विचार कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर कांग्रेस और एनएसयूआई दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रदर्शन करेगी.

कांग्रेसी नेता का आरोप है कि जब भी ईवीएम में गड़बड़ी की खबर मिलती है, बीजेपी चुनाव जीतती है. उन्होंने मांग की कि चुनाव आयोग का आगामी राज्यों और लोकसभा चुनावों में मतपत्रों से चुनाव कराए जाएं. माकन ने आरोप लगाया कि डीयू को ईसीआईएल ने ईवीएम उपलब्ध कराईं और यही कंपनी आयोग को मशीनें उपलब्ध कराती है.

अजय माकन ने आरोप लगाया कि डूसू चुनावों में इस्तेमाल ईवीएम आयोग की हैं जबकि आयोग ने स्पष्ट किया है कि उन्होंने मशीनें उपलब्ध नहीं कराईं. माकन ने सवाल किया,‘दिल्ली विश्वविद्यालय ने यह स्पष्ट क्यों नहीं किया कि उसने ईवीएम कहां से लीं?' 

एबीवीपी को मिले तीन पद
बता दें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने गुरूवार को दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) के चुनाव परिणाम में अध्यक्ष समेत तीन पदों पर कब्जा कर लिया. कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई को केवल एक पद से संतोष करना पड़ा है.

एबीवीपी की अंकिव बसोया ने 1744 मतों के अंतर से अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है. इसी संगठन के शक्ति सिंह को उपाध्यक्ष घोषित किया गया है. उन्होंने 7673 मतों के अंतर से जीत हासिल की है. एनएसयूआई के आकाश चौधरी सचिव पद पर जीतने में कामयाब रहे वहीं संयुक्त सचिव पद एबीवीपी की ज्योति को मिला है. 

(इनपुट - भाषा)