close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति को लेकर बनी जांच कमेटी पर बोले शिक्षा मंत्री, कहा...

राजस्थान विश्वविद्यालय में भर्ती में अनियमितता के आरोप झेल रहे RU के कुलपति आर के कोठारी के खिलाफ तत्कालीन राज्यपाल कल्याण सिंह ने जांच कमेटी बैठाई है.

राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति को लेकर बनी जांच कमेटी पर बोले शिक्षा मंत्री, कहा...
कमेटी जो भी रिपोर्ट सौंपेगी उस आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी.

ललित कुमार/जयपुर: राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति आर के कोठारी के खिलाफ कुलपति पर बनी जांच कमेटी पर पहली बार उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बयान दिया है. उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा की 'कुलपति पर यूनिवर्सिटी में हुई भर्तियों के अलावा अन्य कई मुद्दों को लेकर शिक्षक संगठनों और छात्र संगठनों ने आरोप लगाए थे. जिसके बाद इस पूरे मामले को राजभवन भेजा गया था. जांच और कार्रवाई में कुलपति का पक्ष भी सुना जाएगा.

आपको बता दें कि राजस्थान विश्वविद्यालय में भर्ती में अनियमितता के आरोप झेल रहे RU के कुलपति आर के कोठारी के खिलाफ तत्कालीन राज्यपाल कल्याण सिंह ने जांच कमेटी बैठाई है. संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में बनी जांच कमेटी से जांच करने को कहा है. कमेटी जो भी रिपोर्ट सौंपेगी उस आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी. 

वहीं, कुलपति का पक्ष नहीं सुनने के सवाल पर उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा की विधानसभा में कुलपतियों को लेकर जो विधेयक आया था. उसके अनुसार ही जांच कमेटी का गठन किया गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद कुलपति आरके कोठारी का भी पक्ष सुना जाएगा. कुलपति पर यूनिवर्सिटी में हुई भर्तियों के साथ ही अन्य कई मुद्दों को लेकर शिक्षक संगठनों और छात्र संगठनो ने आरोप लगाए थे. जिसके बाद इस पूरे मामले को राजभवन भेजा गया था.

आपको बता दें कि इससे पहले राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति ने उनके खिलाफ जांच कमेटी बैठाने पर सवाल खड़े किए थे. कुलपति कोठारी का कहना था कि अगर उनके खिलाफ जांच की जानी थी तो पहले उनसे पूछताछ की जानी चाहिए थी. लेकिन उनके मामले में न जांच हुई, न उनसे पूछताछ सीधे-सीधे आरोपों की सुनवाई किए बिना कमेटी बैठा दी गई. 

गौरतलब है कि, कुलपित आर के कोठारी ने खुद को निर्दोष बताते हुए उम्मीद जताई थी कि उनपर लगे सारे आरोप झूठे और निराधार हैं, जांच होने पर भी उन्हें क्लीन चिट मिल जाएगी. उम्मीद है कि मामले में गठित की गई 3 सदस्यीय कमेटी दूध का दूध और पानी का पानी जल्द से जल्द करेगी.