हैदराबाद: चुनाव आयोग की टीम ने तेलंगाना की राजनीतिक पार्टियों के साथ चर्चा की

तेलंगाना विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू करते हुए चुनाव आयोग की एक टीम ने मंगलवार को यहां विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के साथ औपचारिक विचार-विमर्श किया. 

हैदराबाद: चुनाव आयोग की टीम ने तेलंगाना की राजनीतिक पार्टियों के साथ चर्चा की
एमआईएम ने आयोग से अनुरोध किया कि मतदाताओं के पंजीकरण के दौरान विभिन्न उत्सवों को ध्यान में रखा जाए.(फाइल फोटो)

हैदराबाद: तेलंगाना विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू करते हुए चुनाव आयोग की एक टीम ने मंगलवार को यहां विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के साथ औपचारिक विचार-विमर्श किया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि उप निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा की अगुवाई में चुनाव आयोग की टीम ने तेलंगाना के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) रजत कुमार के साथ भी विचार-विमर्श किया. सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयोग के अधिकारी बुधवार को राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श करेंगे ताकि चुनावी तैयारियों की समीक्षा की जा सके. भाजपा ने चुनाव आयोग को सौंपे गए एक ज्ञापन में कहा कि आयोग के पुनरीक्षित कार्यक्रम के मुताबिक सभी 119 विधानसभा क्षेत्रों की मतदाता सूची का मसौदा 10 सितंबर तक सभी राजनीतिक पार्टियों को उपलब्ध कराना था. 

लेकिन पार्टी को यह उपलब्ध नहीं कराया गया. कांग्रेस नेता मर्री शशिधर रेड्डी ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने चुनाव आयोग से कहा कि इतने कम समय में चुनाव कराना संभव नहीं है. तेदेपा के आर चंद्रशेखर रेड्डी ने कहा कि उनकी पार्टी मतदाता सूची से गायब नामों की जांच चुनाव आयोग से कराना चाहती है.

टीआरएस के सांसद विनोद कुमार ने कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग से जल्द से जल्द चुनाव कराने की अपील की, क्योंकि कार्यवाहक सरकार ज्यादा लंबे समय तक शासन नहीं कर सकती. एमआईएम ने आयोग से अनुरोध किया कि मतदाताओं के पंजीकरण के दौरान विभिन्न उत्सवों को ध्यान में रखा जाए.  उन्होंने चुनाव एक ही चरण में कराने की अपील भी की.