close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं: उदयपुरवाटी के पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने राजेंद्र गुढ़ा पर साधा निशाना, कही यह बात

भाजपा नेता और उदयपुरवाटी से पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने गुढ़ा के बहाने कांग्रेस, सीएम, डिप्टी सीएम और उनकी नीतियों को निशाना बनाया है.

झुंझुनूं: उदयपुरवाटी के पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने राजेंद्र गुढ़ा पर साधा निशाना, कही यह बात
उदयपुरवाटी से पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने गंभीर आरोप लगाए है. (फाइल फोटो)

झुंझुनूं: हाल ही में प्रदेश के बसपा विधायक दल का कांग्रेस में विलय हुआ है. जिसे लेकर राजनीति गर्म है. इस विलय में महत्वपूर्ण भूमिका बताई जा रही है कि बसपा से दूसरी बार कांग्रेस में शामिल हुए झुंझुनूं के उदयपुरवाटी से विधायक राजेंद्रसिंह गुढ़ा की. गुढ़ा को कांग्रेस में शामिल होने के बाद उदयपुरवाटी क्षेत्र के कांग्रेसियों में तो सन्नाटा पसरा हुआ है. लेकिन इस मुद्दे को बीजेपी ने उठा लिया है. भाजपा नेता और उदयपुरवाटी से पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने गुढ़ा के बहाने कांग्रेस, सीएम, डिप्टी सीएम और उनकी नीतियों को निशाना बनाया है. 

झुंझुनूं के उदयपुरवाटी से पूर्व विधायक एवं बीजेपी नेता शुभकरण चौधरी ने गंभीर आरोप लगाए है. पूर्व विधायक ने कहा है कि यह उदयपुरवाटी क्षेत्र की जनता और खासकर दलित वोटों के साथ धोखा है. जो राजेंद्रसिंह गुढ़ा ने दूसरी बार किया है. अपने निजी स्वार्थों के कारण उन्होंने बसपा के वोट बैंक के मान सम्मान को ठेस पहुंचाई है. उन्होंने कहा है कि उन्हें शर्म आती है कि जिस व्यक्ति को विधानसभा में शपथ ठीक से लेनी नहीं आती, जो अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करता है. उसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इतनी तवज्जो क्यों दे रहे हैं?

सीएम कार्यकर्ताओं का करा रहे हैं अपमान
पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने कहा है कि उन्हें चिंता हो रही है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का दिमाग पर किसका असर हो गया है. जो व्यक्ति उनके जमीनी कार्यकर्ताओं को दलाल, धानिया भानिया और गालियां निकाल रहा है. उन्हें वो लगातार आगे बढ़ा रहे है. सीएम अपने ही कार्यकर्ताओं का अपमान करवा रहे है. जो बेहद चिंतनीय है. वो भी अशोक गहलोत जैसे व्यक्ति के लिए.

कांग्रेस के लिए चिंता का विषय
उन्होंने राजेंद्र गुढ़ा की भाषा का हवाला देते हुए कहा कि उदयपुरवाटी के कांग्रेस कार्यकर्ता गुढ़ा के अपशब्द सुनकर हतोसाहित हो रहे है. जो कांग्रेस के लिए चिंता का विषय होनी चाहिए.

गहलोत और पायलट पर भी बरसें चौधरी
इस मामले को पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने सीएम अशोक गहलोत तथा डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच चल रहे शीत युद्ध से भी जोड़ा है. उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दिल्ली में अपना बड़ा कद और प्रभाव दिखाने के साथ-साथ अपने छह वोट बढ़ाने के लिए यह विलय करवाया है. लेकिन सच यह है कि खुद को बड़ा दिखाने के चक्कर में उदयपुरवाटी का जमीनी कार्यकर्ता अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहा है और छोटे शब्दों से आहत है. 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बीजेपी में आने का किया आह्वान
उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है कि यदि वे भाजपा में आकर स्वाभिमान से कार्य करना चाहते है तो सादर आमंत्रित है. साथ ही अगर ऐसा नहीं कर पाते है तो कम से कम वे उचित स्थान पर अपनी पीड़ा तो बताएं.

आपको बता दें कि पूर्व में भी जब बसपा विधायक दल का विलय कांग्रेस में हुआ था तो उसमें राजेंद्रसिंह गुढ़ा भी शामिल थे. इस बार के विलय में भी गुढ़ा का महत्वपूर्ण रोल रहा है. वहीं वे लगातार विधानसभा के अंदर और बाहर बसपा की रीति-नीति पर सवाल उठाते रहे है. ऐसे में यह तो पहले से तय था कि गुढ़ा कभी भी बसपा को बाय-बाय कह सकते है.