close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महिला कॉन्स्टेबल सुसाइड केस में नया मोड़, परिजनों ने शव पहचानने से किया इनकार

 परिवार वालों ने साफ कहा कि मेरी बेटी आत्महत्या नहीं कर सकती है. उन्होंने न्याय की मांग की है. सीवान पुलिस पर परिजनों ने गंभीर आरोप लगाए हैं. 

महिला कॉन्स्टेबल सुसाइड केस में नया मोड़, परिजनों ने शव पहचानने से किया इनकार
महिला काॉन्सटेबल. (फाइल फोटो)

मुंगेर : सीवान की महिला कॉन्स्टेबल स्नेहा सुसाइड केस में आया नया मोड़ आ गया है. परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई है. अधिकारीयों पर हत्या का आरोप लगाया है. साथ ही शव को पहचाने से भी इनकार कर दिया है. परिजनों ने इस मामले को लेकर ग्रामीणों के साथ मिलकर मुंगेर-बरियारपुर मुख्य मार्ग एनएच-80 को घंटो जाम कर दिया. जाम से लोगों को काफी परेशानी हुई.

सीवान में महिला पुलिसकर्मी स्नेहा की मौत बीते पांच दिनों से बिहार में सुर्खियों में बनी हुई है. पोस्टमार्टम को लेकर अस्पताल में डॉक्टरों की पिटाई भी कर दी गई. एक बार फिर स्नेहा की मौत में नया मोड़ आया है. स्नेहा का शव मुंगेर पहुंचते ही परिजनों ने शव को लेने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि शव स्नेहा का नहीं है. परिजनों ने पुलिस अधिकारियों पर छल करने का आरोप लगाया.

परिजनों ने आरोप लगाया कि मेरी बेटी के साथ बलात्कार कर उसका अपहरण कर लिया गया है. या तो उसे मार दिया गया है. परिवार वालों ने साफ कहा कि मेरी बेटी आत्महत्या नहीं कर सकती है. उन्होंने न्याय की मांग की है. सीवान पुलिस पर परिजनों ने गंभीर आरोप लगाए हैं. 

स्नेहा की बहन ने बताया कि पांच दिन के बाद शव को दिखाया गया. जो शव भेजा गया है वो किसी बूढ़ी महिला का है, न की उसकी बहन का. इन्हीं कारणों से ग्रामीणों और परिजनों ने एनएच 80 को रामनगर थाना क्षेत्र के नौवागढ़ी के पास जाम कर दिया. घंटों जमा रहने के कारण कई वाहन और यात्री फंस गए.

इस मामले को लेकर एसपी मंगला ने डॉक्टरों की एक टीम बुलाकर शव के एक टुकड़े को लेकर डीएनए टेस्ट के लिए भेज दिया है. इसके बाद पुलिस ने परिजनों पर दवाब बनाकर शव का गंगा में अंतिम संस्कार कराया. पुलिस ने जाम में शामिल 10 युवकों को हिरासत में लिया है.