फारूक अब्‍दुल्‍ला ने PM मोदी को लिया आड़े हाथ, कह दीं ये बातें

उन्‍होंने कहा 'देश के प्रधानमंत्री होने के नाते उन्‍हें (पीएम मोदी) को बड़े स्‍तर पर सोचना चाहिए.'

फारूक अब्‍दुल्‍ला ने PM मोदी को लिया आड़े हाथ, कह दीं ये बातें
फोटो साभारः ANI

नई दिल्‍ली : जम्‍मू और कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्‍यक्ष फारूक अब्‍दुल्‍ला ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्‍होंने राजनीति के संदर्भ में एक कार्यक्रम के दौरान कहा 'इसकी गुणवत्‍ता दिनोंदिन कम होती जा रही है. यह इतने निचले स्‍तर तक कम होती जा रही है कि लोग यह भी भूल गए हैं कि नेहरू ने हमारे देश के लिए कितना कुछ किया. इंदिरा गांधी ने देश को क्‍या दिया, उन्‍होंने हमें जिंदगी दी. राजीव गांधी औश्र अन्‍य प्रधानमंत्रियों ने क्‍या देश को बनाने के लिए अपना पूरा योगदान और समय नहीं दिया? अगर आज हम यहां बैठे हैं तो सिर्फ उन्‍हीं के कारण यह संभव हुआ है.

पीएम मोदी पर निशाना
उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा 'लेकिन हम किस तरह से बातचीत कर रहे हैं. मेरी मां को गाली दिया, मेरे बाप को गाली दिया. क्‍या यह किसी प्रधानमंत्री का स्‍तर है? मैंने कभी अपने पिता और मां को अपनी बातचीत में नहीं इस्‍तेमाल किया.' उन्‍होंने आगे कहा 'देश के प्रधानमंत्री होने के नाते उन्‍हें (पीएम मोदी) को बड़े स्‍तर पर सोचना चाहिए.'

अटल जी का जिक्र
फारूक अब्‍दुल्‍ला ने कहा 'पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने एक बार मुझसे कहा कि जब उन्‍होंने अपना पहला भाषण दिया था तो जवाहरलाल नेहरू उनके पास आए थे और उनसे कहा था कि अटल एक दिन तुम इस देश के प्रधानमंत्री जरूर बनोगे.' उन्‍होंने कहा 'अटल जी आरएसएस से आए थे, वह जानते थे कि इस देश को किसी एक ने नहीं बल्कि सभी ने मिलकर बनाया है और जिन्‍होंने इसका निर्माण किया है उन्‍हें भुलाया नहीं जा सकता.'

कांग्रेस से खिलाफत की वजह बताई
उन्‍होंने आगे कहा 'मेरे कांग्रेस के खिलाफ रहने के पीछे का कारण है कि मैं मानता हूं कि उन्‍हें अटल बिहारी वाजपेयी को जीवित और स्‍वस्‍थ रहते हुए ही भारत रत्‍न दे देना चाहिए था.'

भारत को कोई नहीं बांट सकता
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने सोमवार को मुंबई आतंकी हमले की 10वीं बरसी पर घटना में मारे गए लोगों की याद में एक मिनट का मौन रखने के बाद कहा कि जब तक लोगों में एकता है तब तक कोई भारत को बांट नहीं सकता. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि वह आशावादी हैं और उनको उम्मीद है कि भारत भविष्य में ऐसे आतंकी हमले को रोकने में सक्षम होगा. लेकिन उन्होंने कहा कि इसके लिए हमारा घर संगठित होना चाहिए.

वे जातीय आधार पर कश्मीर को पाक बनाना चाहते हैं...
उन्होंने कहा, "हम वर्षों से आतंक का मुकाबला करते आ रहे हैं. वह राज्य के सक्रिय सदस्य (पाकिस्तान के) हैं. वे जातीय आधार पर कश्मीर को पाक बनाना चाहते हैं, लेकिन मैं आपको बता दूं कि हमें सफलता मिल रही है क्योंकि हमारी बड़ी आबादी उनसे ऊब चुकी है." उन्होंने कहा, "हम खुफिया के कारण सफल नहीं हैं बल्कि आम आदमी आतंकियों से ऊब चुके हैं और वे सही सूचना दे रहे हैं."

अब्दुल्ला यहां कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की किताब 'फैब्ल्स ऑफ फ्रैक्चर्ड टाइम्स' के विमोचन पर आयोजित समारोह में बोल रहे थे. इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राजनयिक व राजनेता पवन के. वर्मा भी मौजूद थे.