close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शादीशुदा शख्स पर चढ़ा प्यार का बुखार, 8 माह की बेटी को तेजाब से जलाने में भी नहीं कांपे उसके हाथ

प्रेम को पाने के लिए आरोपी ने अपने ही 8 माह की मासूम बच्ची को एसिड डालकर मार डाला.

शादीशुदा शख्स पर चढ़ा प्यार का बुखार, 8 माह की बेटी को तेजाब से जलाने में भी नहीं कांपे उसके हाथ
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेहसाणा: मेहसाणा के कड़ी तालुका से एक ऐसा किस्सा सामने आया है जहां एक बाप ने प्रेमप्रसंग के लिए आठ महीने की नवजात बच्ची को मार डाला फ़िलहाल आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है. इस बात की जानकारी होने के बात पूरा परिवार और इलाका सदमे में है. मेहसाणा के कड़ी तालुका में स्थित चालसाणा गांव में एक आठ महीने की बच्ची को एसिड डालकर उसके ही पता द्वारा मार डाला गया ताकि वो अपनी प्रेमिका के पति को रास्ते से हटा सके और उसका प्रेमप्रकरण लगातार चलता रहा. मासूम बच्ची का पिता प्रवृति का है और अपनी बेटी को मरने से पहले भी यह जेल की हवा खा चुका है. 

कड़ी तालुका में रहने वाला वीनू नामक आरोपी ने पुलिस को सूचना दी कि उसकी बच्ची को सामने रहने वाले लोगों ने एसिड डालकर मार डाला है. जब बच्ची पलने में सोई हुयी थी. पुलिस तुरंत ही घटनास्थल पर पहुंची और जाँच शुरू की. जब पुलिस बच्ची को देखने घटनास्थल पर पहुंची तो मृत बच्ची का पिता वह मौजूद नहीं था जिससे पुलिस को शक भी हुआ लेकिन पुलिस को प्राथमिक दृष्टया यही लगा की बच्ची कुपोषण का शिकार है.

शायद बीमारी से मौत हो सकती है. तब पुलिस ने बच्ची का पोस्टमार्टम करवाया जहां रिपोर्ट आई कि बच्ची की एसिड डालकर हत्या कर दी गई है. पुलिस ने हर तरह की जाँच के बाद आखिर कर पिता पर ही शक हुआ. लेकिन पिता तो बच्ची की हत्या का आरोप पड़ोसी पर ही लगाता रहा. पुलिस ने जब शख्ती से पिता से पूछताछ की तो पिता ने अपने आरोप कबूल लिया.

आखिर में जो कहानी निकलकर सामने आई उससे कोई भी सुनकर सिहर जाएगा. आरोपी वीनू पहले भी कई गुनाहों के लिए जेल काट चूका था. जेल से सजा पूरी होने के बाद वह अपने परिवार के साथ आकर रहने लगा. जहां उसकी बेटी हुई जो जन्म से कुपोषण का शिकार थी. इसी बीच आरोपी को किसी महिला से प्यार हो गया.

अपने प्रेम को पाने के लिए आरोपी ने अपने ही मासूम बच्ची को एसिड से मार डाला. इसके बाद आरोपी ने पुलिस को फोन करके बेटी की हत्या किसी पड़ोसी पर करने का आरोप लगा दिया. जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तब यह शख्स नहीं था. जिसके बाद पुलिस की पूछताछ में आखिर आरोपी पिता ने अपनी करतूत कबूल ली.