close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में विशेष पूजा-अर्चना के साथ शुरू हुआ नवरात्री का पहला दिन

प्रदेश के बांसवाड़ा जिले के उमराई गांव में स्थित प्रसिद्ध मंदिर मां त्रिपुरा सुंदरी में नवरात्री के अवसर पर भव्य मंगला आरती का आयोजन किया गया.

राजस्थान में विशेष पूजा-अर्चना के साथ शुरू हुआ नवरात्री का पहला दिन
नवरात्र के अवसर पर जिले के सभी प्रसिद्ध मंदिरो में विशेष सजावट की गई है.

राजस्थान: पूरे देश में आज नवरात्री के पहले दिन की शुरूआत कलश स्थापना के साथ हो गई. इसी कड़ी में राजस्थान के कई इलाकों में कशल स्थापना के साथ श्री दुर्गा मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की गई. वहीं, राजस्थान को सभी मंदिरों में नवरात्र के दौरान सुबह और शाम को महाआरती की जाएगी. इस मौके पर मंदिर को विशेष रूप से सजाया गया है. 

साथ ही, नवरात्री के पावन अवसर पर प्रदेश के सभी मंदिरों को दुल्हन की तरह सजाया गया है. मंदिरों को रंग बिरंगी रौशनी सो नहला दिया गया है. यहां तक कि बाजार में भी नवरात्री को लेकर काफी रौनक देखने को मिल रही है. शहर भर के मंदिरो में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं.

 

वहीं प्रदेश के बांसवाडा जिले के उमराई गांव में स्थित प्रसिद्ध मंदिर मां त्रिपुरा सुंदरी में नवरात्री के अवसर पर भव्य मंगला आरती का आयोजन किया गया. इस आरती में प्रदेश सरकार के टीएडी मंत्री अर्जुनसिंह बामनीया सहित सैंकड़ों भक्त पहुंचे. सभी भक्तों ने पूरी श्रद्धा के साथ मां के दर्शन किए और  मंगल आरती में शरीक हुए. 

खबरों के मुताबिक, मंदिर परिसर में रात्रि को गरबा रास का भी आयोजन होगा. जिसमें महिलाएं व युवतियां गरबा खेलेंगी. वहीं, नवरात्री के अवसर पर जिले के सभी प्रसिद्ध मंदिरो में विशेष सजावट की गई है. भारी तादाद में भक्त सभी मंदिरों में मां के दर्शन को पहुंच रहे हैं. साथ ही नवरात्री को लेकर पुलिस विभाग भी अर्लट पर है. 

राजस्थान में पुलिस ने सभी मंदिरों में सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए हैं. कई मंदिरों में मैटल डिटेक्टर लगाए गए हैं. वहीं जगज-जगह पर पुलिस जाप्ता तैनात किए गए हैं. यही नहीं राजस्थान पुलिस ने मंदिरों के अलाव प्रदेश के सभी बाजारों और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए गए हैं. ताकि भक्त पूरी निष्ठा और भय से मुक्त होकर माता की पूजा अर्चना कर सकें.