close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुंबई: पति नहीं कर रहा था नौकरी, पत्नी से किया झगड़ा और दे दिया तीन तलाक

महिला ने पुलिस को बताया कि उनकी शादी साल 2005 में हुई थी. शादी के बाद वह अपने पति के साथ अहमदनगर रहने चली गई.

मुंबई: पति नहीं कर रहा था नौकरी, पत्नी से किया झगड़ा और दे दिया तीन तलाक
14 अगस्त को पेशे से डायटिशियन 37 वर्षीय महिला ने नागपाड़ा पुलिस से संपर्क किया और शिकायत दर्ज करवाई.

विशाल सिंह/मुंबई: तीन तलाक के खिलाफ कानून बनने के दो हफ्तों बाद मुंबई की नागपाड़ा पुलिस ने शहर का पहला मामला मुस्लिम महिला अधिनियम 2019 के तहत दर्ज किया है. बुधवार यानी 14 अगस्त को पेशे से डायटिशियन 37 वर्षीय महिला ने नागपाड़ा पुलिस से संपर्क किया और शिकायत दर्ज करवाई. महिला ने अपने पति के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं (विवाह अधिकारों पर संरक्षण) अधिनियम 2019 और आईपीसी की धारा 498 के तहत शिकायत दर्ज करवाई है. पुलिस ने दी जानकारी के अनुसार यह घटना नवंबर 2018 की है. इस मामले में अभी तक पीड़ित महिला के पति अनवर अली सैयद की गिरफ्तारी होना बाकी है. महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति ने उसे नवंबर 2018 में तीन तलाक दिया था.

महिला ने पुलिस को बताया कि उनकी शादी साल 2005 में हुई थी. शादी के बाद वह अपने पति के साथ अहमदनगर रहने चली गई. बाद में महिला को पता चला कि उनका पति बेरोजगार है, वह मुंबई वापस आ गई और अपने परिवार वालों के पास आकर रहने लगीं. इसके बाद महिला एक प्राइवेट फर्म में डाइटिशियन के पद पर काम करने लगी. महिला ने बताया कि कुछ समय बाद उनके पति भी मुंबई आ गए और कई व्यवसायों में अपना हाथ आजमाया लेकिन उन्हें कहीं भी सफलता नहीं मिल पाई. इसके बाद महिला के पति ने उनसे पैसे मांगने शुरू कर दिए और इसी वजह से आए दिन उन दोनों के बीच झगड़ा होता रहता था. 

 

2009 में महिला ने दो जुड़वां बेटियों को जन्म दिया. कुछ साल बाद महिला का पति बच्चियों को अपने साथ लेकर अहमदनगर चला गया. हालांकि, महिला अपनी एक बेटी को अपने साथ मुंबई वापस ले आई. इसके बाद नवंबर 2018 में महिला और उसके पति के बीच नौकरी न मिलने के चलते फिर झगड़ा हुआ और महिला के पति ने उसे तलाक दे दिया. नागपाड़ा पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संतोष बागवे ने बताया कि इस मामले में हमने महिला की शिकायत दर्ज कर ली है और इस मामले में हम आगे की जांच कर रहे हैं. 

इस मामले में जब पीड़ित महिला से हमने संपर्क किया तो उसने कैमरे पर बात करने से यह कहकर इनकार कर दिया कि उसकी दो बेटियां है और उनको इससे दिक्कत हो सकती है. वहीं, उसके रिश्तेदार डॉ. जावेद अंसारी ने ट्रिपल तलाक निरोधक कानून लागू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया किया. उन्होंने बताया कि शादी 2005 मे हुई थी. लेकिन. लड़के वालो ने लड़के के बारे में झूठ बताया था. वो कम पढा-लिखा है और बेरोजगार है. वो महिला जो कि एक अच्छे घर से है, उससे पैसे मांगता रहता था. वहीं, नागपाड़ा पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संतोष बागवे ने बताया कि इस मामले में हमने महिला की शिकायत दर्ज कर ली है और इस मामले में हम आगे की जांच कर रहे हैं.