close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बांसवाड़ा जिले के कई इलाकों में आई बाढ़ ने मचाई तबाही, लोगों को सरकार से मदद की उम्मीद

इस क्षेत्र में नदी और नालों पर बने जितने भी पुल और रपट थी वो पानी के तेज बहाव में क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं. वहीं दानपुर का भी यही हाल रहा.

बांसवाड़ा जिले के कई इलाकों में आई बाढ़ ने मचाई तबाही, लोगों को सरकार से मदद की उम्मीद
क्षेत्र में नदी और नालों पर बने जितने भी पुल और रपट थी वो क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं.

अजय ओझा, बांसवाड़ा: जिले में पिछले दिनों दो दिन तक लगातार हुई बरसात के कारण कई लोग बेघर हो गए और कई लोगों की रोजी रोटी तक इस पानी ने छीन ली. जिले के छोटी सरवन पंचायत समिती के घोडी तेजपुर और दानपुर गांव में लगातार हुई बरसात ने पुरी तरह से तबाही मचा दी. जिले में इस बरसात के अगर सबसे ज्यादा नुकसान हुआ तो घोडी तेजपुर गांव में हुआ. 

इस गांव में कुंडल नदी के तेज बहाव में 15 से अधिक मकान पानी के तेज बहाव में बह गए, वहीं दुकाने और गुमटीया तक पानी में बह गई. इस क्षेत्र में नदी पर बने पुल तक टूट चुके हैं. वहीं विद्युत पोल तक पानी के बहाव में बह गए. इतना ही नहीं एक नीजी स्कूल भवन बना उसके नीचे से ही जमीन तक खिसक गई. 

इस क्षेत्र में नदी और नालों पर बने जितने भी पुल और रपट थी वो पानी के तेज बहाव में क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं. वहीं दानपुर का भी यही हाल रहा. यहां पर भी पानी कई घरों में घुसा और कई घरों का सामान इस पानी के तेज बहाव के साथ बह गया. वहीं कई कवेलुपोश मकान भी धराशाही हो गए. 

पानी के तेज बहाव के कारण सैकड़ों किसानों की मेहनत पर पानी फिर गया. घोडी तेजपुर और दानपुर क्षेत्र में लाखों की फसल का नुकसान हुआ है. पानी के तेज बहाव के कारण यहां की सारी फसलें चौपट हो गई हैं. पानी के तेज बहाव से कहीं लोगों ने अपनी जान बचाई है. लगातार दो दिन की बरसात में हुए नुकसान का जायजा लेने महज यहां पर स्थानिय प्रधान राजेश कटारा व तहसीलदार ही पहुंचे हैं पर कलेक्टर ने अबतक इस तबाही वाले इलाके का जायजा नहीं लिया. जिस कारण से यहां के लोगों को खासी नाराजगी है. वहीं यहां के लोगों को सरकार से भी उम्मीद है कि बरसात से जो नुकसान हुआ हे उसका मुआवजा सरकार देगी.