close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल बीजेपी में हुए शामिल

मुंबई (Mumbai) में सीएम फडणवीस (CM Fadnavis) और बीजेपी प्रदेश कमेटी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की मौजूदगी में हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) बीजेपी में शामिल हुए

महाराष्ट्र में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल बीजेपी में हुए शामिल
(फाइल फोटो)

मुंबई: महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों (Assembly Election) से पहले नेताओं के दल बदलने का सिलसिला लगातार जारी है. कांग्रेस (Congress) को बुधवार को एक बड़ा झटका लगा जब कांग्रेस के कद्दावर नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) पार्टी का साथ छोड़ बीजेपी (BJP) में शामिल हो गए. जानकारी के मुताबिक मुंबई (Mumbai) में सीएम फडणवीस (CM Fadnavis) और बीजेपी प्रदेश कमेटी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की मौजूदगी में हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) बीजेपी में शामिल हुए. पिछले कई दिनों से उनके बीजेपी (BJP) में शामिल होने की चर्चा थी. आखिरकार सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के मौजूदगी में मुंबई (Mumbai) में हुए कार्यक्रम में वह बीजेपी (BJP) में शामिल हुए.

बताया जा रहा है कि शरद पवार (Sharad Pawar) के विरोधी माने जाने वाले हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) को पुणे (Pune) की इंदापूर सीट से कांग्रेस (Congress) को टिकट (ticket) चाहिए था. लेकिन इंदापूर सीट को लेकर एनसीपी (NCP) ने अपनी भूमिका स्पष्ट नहीं की थी. दरअसल, पुणे की इंदापूर विधानसभा सीट से हर्षवर्धन पाटील कांग्रेस के टिकट पर जीतते आए हैं. 2014 की विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में कांग्रेस-एनसीपी ने अलग चुनाव लड़ा था. कांग्रेस (Congress) नेता हर्षवर्धन पाटिल के खिलाफ एनसीपी ने अपना उम्मीदवार उतारा था. एनसीपी (NCP) के दत्तात्रय भरणे इंदापूर से जीते थे. ऐसे में 2014 में जीती सीट पर एनसीपी ने दावा नहीं छोड़ा था. इसके चलते हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) ने बीजेपी में जाना उचित समझा.

देखें लाइव टीवी

आपको बता दें कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में 1995 में बने शिवसेना-बीजेपी गठबंधन सरकार में हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) मंत्री थे. वह 1995 में निदर्लीय चुनाव जीते थे. बाद में वह फिर कांग्रेस (Congress) में शामिल हुए. वहीं बीजेपी (BJP) में शामिल होने के बाद पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल ने कहा कि मैं बिना शर्त बीजेपी में शामिल हुआ हूं. जो जिम्मेदारी पार्टी मुझे देगी उसे मैं निभाऊंगा. यहां आपको यह भी बता दें कि शनिवार (7 सितंबर) को अहमदनगर (Ahmadnagar) जिले के श्रीरामपूर के विधायक (MLA) भाऊसाहेब कांबले (Bhausaheb Kamble) कांग्रेस (Congress) पार्टी से नाता तोड़ शिवसेना (Shiv Sena) में शामिल हो गए थे. जानकारी के मुताबिक शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की मौजूदगी में भाऊसाहेब कांबले ने शिवसेना का दामन थामा था.