देवभूमि में स्कूल टीचर ने किया छात्रा से छेड़छाड़, परिजनों ने जमकर की पिटाई

गुरुवार को छात्रा ने शिक्षक की हरकतों से तंग आकर अपने परिजनों को इस मामले की जानकारी दी

देवभूमि में स्कूल टीचर ने किया छात्रा से छेड़छाड़, परिजनों ने जमकर की पिटाई
छात्रा की मां कहना है कि ये शिक्षक चार महीने पहले भी ऐसी हरकतें करता था और उसके बाद इस शिक्षक ने माफी मांगी थी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शिमला (ललित शर्मा): देश भर में छोटी बच्चियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं कम होने के नाम नहीं ले रही है. ताजा मामला शिमला के एक सरकारी स्कूल में सामने आया है जहां एक शिक्षक ने 11 साल की छात्रा से छेड़छाड़ की. शिक्षक सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा के साथ काफी समय से छेड़छाड़ करता था. गुरुवार को छात्रा ने शिक्षक की हरकतों से तंग आकर अपने परिजनों को इस मामले की जानकारी दी. जिसके बाद गुस्साए परिजन स्कूल पहुंच गए और स्कूल में शिक्षक की उन लोगों ने जम कर धुनाई कर दी.

पहले बनाया दबाव फिर स्कूल ने खुद की मामले की शिकायत
वहीं दूसरी ओर स्कुल प्रशासन इस मामले को रफादफा करने करने के लिए परिजनों पर दबाव बना रहा था ताकि उसका नाम न खराब हो. लेकिन, जब परिजन और लोग हंगमा करने लगे तो स्कूल प्रबंधन ने इसकी शिकायत शिक्षा विभाग से भी कर दी. जिसके बाद शिक्षा विभाग ने मामले की जांच के लिए दो अधिकारियों को मौके पर भेजा. जांच दल ने पीड़ित छात्रा और अन्य छात्राओं के बयान दर्ज कर लिए हैं. हंगामे की जानकारी पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और आरोपी शिक्षक को अपने साथ बालूगंज थाने ले गई.

पहले भी ऐसी हरकत कर चुका है आरोपी शिक्षक
छात्रा की मां कहना है कि ये शिक्षक चार महीने पहले भी ऐसी हरकतें करता था और उसके बाद इस शिक्षक ने माफी मांगी थी. लेकिन, शिक्षक बच्चियों के साथ अब दोबारा से वैसी ही हरकतें कर रहा है. ये पहले भी एक बेटी के साथ ऐसी हरकतें कर चुका है. इसके साथ ही उन्होंने आरोपी शिक्षक के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है.

शिक्षक ने खुद को बताया निर्दोष
वहीं दूसरी ओर शिक्षक अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को निराधार बता रहा है. शिक्षक का कहना है कि बच्चे पढ़ कर नहीं आते हैं तो उन्हें सिर्फ डांटा था और किसी तरफ की कोई हरकत नहीं की है. उन पर जो आरोप लगा रहे हैं वो झूठे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें बेरहमी से पीटा गया है.

स्कूल ने जी मीडिया को दी अपनी सफाई
इस मामले में स्कुल प्रबंधन की तरफ से जी मीडिया से बात करते हुए स्कूल इंचार्ज राजेश्वरी नेगी ने कहा, "इस शिक्षक के खिलाफ पहले भी शिकायत आई थी. जिसके बाद उन्हें आगाह किया गया था. आरोपी ने माफी मांगी थी लेकिन अब दोबारा छात्राओं ने आरोप लगाए हैं. इसकी सूचना शिक्षा विभाग को दी गई और एक टीम इसको लेकर जांच कर रही है."

मंत्री जी बोले- जांच के बाद होगी कार्यवाही
मौके पर पहुंची पुलिस ने स्कूली छात्राओं के बयान दर्ज करने के बाद आरोपी को बालूगंज थाना ले गई. शिमला के एएसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि स्कुल में एक पीटीआई शिक्षक छेड़खानी करता था. पुलिस के पास शिकायत की गई है. बच्ची के बयान लिए जा रहे हैं. उसके बाद आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज किया जाएगा. उधर राज्य के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने जी मीडिया से कहा कि इस मामले की जानकारी मिलते ही शिक्षा विभाग को जांच के आदेश दिए थे और जांच की जा रही है. जिसके बाद कार्यवाही की जाएगी.