close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: लेटलतीफी की आदत से नहीं बाज आ रहें सरकारी कर्मचारी, जल्द होगी कार्रवाई

राजधानी में प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम ने सरकारी कार्यालयों में बुधवार को भी छापा मारा. एआर की टीम ने 10 विभागों में औचक निरीक्षण किया. जिसमें 58.29 प्रतिशत कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए.

जयपुर: लेटलतीफी की आदत से नहीं बाज आ रहें सरकारी कर्मचारी, जल्द होगी कार्रवाई
राजधानी जयपुर के सरकारी कार्यालयों की हालत बदतर है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: राजधानी जयपुर में प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम ने सरकारी कार्यालयों में बुधवार को भी छापा मारा. एआर की टीम ने 10 विभागों में औचक निरीक्षण किया. जिसमें 58.29 प्रतिशत कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए. 

प्रशासनिक सुधार विभाग की ओर से सरकारी कार्यालयों में लगातार औचक निरीक्षण जारी है. लेकिन सरकारी नौकरी को आराम परस्ती की नौकरी समझने वाले कर्मचारियों की दिनचर्या में कोई बदलाव नहीं आ रहा है. अगर राजधानी जयपुर में यह हालात हैं तो प्रदेश में क्या हाल होंगे.

औचक निरीक्षण में आधे कर्मचारी मिले नदारद
गहलोत सरकार आमजन के कामकाज के काम करने की बात कहती हो. लेकिन जिस तरह से प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम औचक निरीक्षण कर रही है और जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वो तो कुछ ओर ही कहानी कह रहे हैं. सर्विस डिलीवरी की बात करने वाली सरकार में आज भी औचक निरीक्षण हुआ जिसमें 10 विभागों के आधे से ज्यादा कर्मचारी नदारद मिले.

कर्मचारियों की उपस्थिति के औचक निरीक्षण 10 विभागों में किया गया. इस दौरान कुल 360 राजपत्रित कर्मचारिय़ों में से 215 अनुपस्थित थे. वहीं, 772 अराजपत्रित कर्मचारियों में से 450 गैरहाजिर रहे. वहीं, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी जयपुर कार्यालय में 10 राजपत्रित अधिकारियों में से 9 अनुपस्थित मिले. यहां 95 अराजपत्रित अधिकारी 79 ऑफिस में मौजूद नहीं थे. इसी तरह की स्थिति अन्य सरकारी कार्यालयों में मिली.

लगातार चल रहा है अभियान
प्रशासनिक सुधार विभाग की टीम लगातार अभियान चला रही है. लेकिन कर्मचारियों के ढर्रे में बदलाव नजर नहीं आ रहा. प्रशासनिक सुधार विभाग प्रमुख सचिव आर वेंकटेश्वरन ने कहा है कि जब तक कर्मचारी अपने रवैये में बदलाव नहीं करते यह अभियान जारी रखा जाएगा. वहीं सभी विभागों को भी औचक निरीक्षण करने की जिम्मेदारी दे रखी है, वो भी निरीक्षण अभियान जारी रखें. 

आमजनों की बढ़ती है परेशानी
प्रदेशभर से हजारों कर्मचारी रोजाना जयपुर विभिन्न सरकारी कार्यालयों में कामकाज के लिए चक्कर लगाते मिलते हैं. लेकिन कर्मचारियों की गैरमौजूदगी के कारण वो कर्मचारियों को कोसते नजर आते हैं. कर्मचारी सुबह ऑफिस देरी से पहुंचते हैं और दिनभर कभी चाय, लंच के बहाने सीट से गायब रहते हैं. जिसके चलते दूरदराज इलाकों से आने वाले लोग परेशान होते नजर आते हैं.