close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यहां आज तक नहीं बना पुल, एक गांव से दूसरे गांव के लिए नापना पड़ता है 25KM की दूरी

सरकारी विभाग में पुल बनाने के लिए फाइल एक विभाग से दूसरे विभाग में तैरती रहती है और बारिश के मौसम में 4 महीने 25 हजार से ज्यादा लोगों को मुसीबत झेलनी पड़ती है. 

यहां आज तक नहीं बना पुल, एक गांव से दूसरे गांव के लिए नापना पड़ता है 25KM की दूरी

गुजरात: ऊना और गिर गढ्डा तालुका के बीच रावल नदी भाटी है. जहां आज तक पुल नहीं बनाया गया है. पुल न होने की वजह से 14 गांवों के लगभग 25 हजार से अधिक लोग हर दिन परेशानी उठाते हैं. काँधी गांव से पणखाण, उगमणा पाड़ा, नाद्रोख, नाना संधियाणा, वांकिया, बांधारड़ा, समेत 14 गावों को इस इससे प्रभावित है. यहां एक गांव के लोगों को करीबन 40 किलोमीटर घूम के दूसरे गांव जाना पड़ता है. एक पूल नहीं होने से किसानों को, व्यापारियों को स्कूल के छात्रों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है.

सरकारी विभाग में पुल बनाने के लिए फाइल एक विभाग से दूसरे विभाग में तैरती रहती है और बारिश के मौसम में 4 महीने 25 हजार से ज्यादा लोगों को मुसीबत झेलनी पड़ती है.बारिश के 4 महीने बाद वहां के लोग नदी में से एक तरफ से दूसरी तरफ जाते है लेकिन बारिश में दौरान नदी में पानी जा जलस्तर बढ़ जाने से लोगों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है.

REPORTER-रजनी कोटेचा