close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रिक्शे से आए 4 शख्स, गाड़ी में बैठे लोगों से कहा- आपका 10 रुपया गिर गया है और फिर...

 4 अनजान आदमी रिक्शा से आए और उन्होंने गनमैन से कहा क‍ि उसके 10 रुपए निचे गिर गए है. 

रिक्शे से आए 4 शख्स, गाड़ी में बैठे लोगों से कहा- आपका 10 रुपया गिर गया है और फिर...
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

सूरत: तमिलनाडु की ये गैंग अलग अलग राज्यों से अलग अलग तरीकों से डाका डालती थी और लूट मचा कर फरार हो जाती थी. इस गैंग ने पिछले हफ्ते ही सूरत के चौकबाज़ार में एसबीआइ बैंक के बाहर खड़ी कैश लोड वैन में से 20 लाख रुपयों की चोरी कर फरार हो गए थे. पुलिस की जांच के अनुसार आरोपी चौकबाजार से उधना दरवाजा तक रिक्शा में गए थे और वहां से फिर रिक्शा बदलकर कामेरज की तरफ भाग गए थे. आरोपियों ने फिर कामरेज से गाड़ी बदली और ईको कार में बैठ कर वापी की तरफ भाग गए. पिछले हफ्ते सूरत की रेडिएंट कंपनी की गाडी से 20 लाख रुपए की चोरी कर आरोपी रिक्शा से फरार हो गए थे. 

सूरत की रेडिएंट कंपनी बैंक में पैसे लाने ले जाने का काम करती है. कंपनी के ड्राइवर सुभाष और गनमैन रमेश सिंह 42 लाख रुपए से भरा बैग बैंक में जमा करवाने गए थे. सुभाष और रमेश सिंह दोनों कंपनी की मिनी लोडर गाड़ी से चौकबजार की एसबीआई बैंक में पैसे जामा करवाने गए थे और बैंक के बाहर गाड़ी लगा कर ड्राइवर बैंक में पैसे जमा करवाने गया और गनमैन गाड़ी में ही बैठा था.

इस दौरान 4 अनजान आदमी रिक्शा से आए और उन्होंने गनमैन से कहा की उसके 10 रुपए निचे गिर गए है.  गनमन जैसे ही गिरे पैसे उठाने के लिए नीचे उतरे उतने में मौका ढूँढ कर 20 लाख रुपए से भरी बैग गाड़ी में से निकाल कर चोर रिक्शा से फरार हो गए थे. गौरतलब है की जहां से चोरी हुई वहां से महज 200 मीटर की दूरी पर क्राइम ब्रांच की ऑफिस स्थित है और वहीं से 100 मीटर की दूरी पर अथ्वालीनेस पुलिस थाना है. चोरी की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई थी. जिसमे रिक्शा की नंबर प्लेट साफ़ नज़र आ रही थी.

पुलिस ने इस चोरी के मामले में ईको कार समेत तमाम पहलुओं की जांच की जिसमे पता चला की ये गैंग तमिलनाडु की है जिसके बाद पुलिस की एक टीम की तमिलनाडु रवाना किया गया. वही अन्य टीम को मुंबई और दिल्ली रवाना किया गया था. इसके बाद मोबाइल लोकेशन के आधार पर पता चला की इस गैंग का एक शक्श हरियाणा के पलवल स्टेशन पर है.

क्राइमब्रांच टीम ने पलवल स्टेशन से ट्रेन में सवार होने से पहले ही दोनों आरोपियों धर दबोच जिसके बाद पांच अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर  लिया गया है. पुलिस ने इनके पास से 3 लाख 70 हजार चोरी की रकम भी बरामद की है.  आर.आर.सरवैया (एसीपी क्राइमब्रांच )  ने  जानकारी देते हुए बताया की  पुलिस पूछताछ में, उन्होंने अपना नाम सुंदरराज सीब्रामणियम , युवराज शेरवई, लोगनाथन शेरवई, लिंगरामन मोदलियार, नित्यानदन शेरवई, दीनू शेरवई और मोती शेरवाई बताया था.

इस गैंग का मुखिया सुंदरराज सीब्रामणियम था.जब भी चोरी को अंजाम दिया जाता था तब तब इस गैंग का मुख्य सुंदरराज दो महीने तक बाहर रहते थे. सुंदरराज चोरी की ५० फीसदी रकम अपने पास रखता था और बाकी की रकम अपने अन्य साथीदारों में बाट देता था. पूछताछ  में आरोपियों ने ये भी बताया की वे चोरी करने के लिए खुजली वाले स्प्रे का भी इस्तेमाल करते थे.

इस गैंग द्वारा अब तक महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, दिल्ली समेत राज्यों में चोरी को अंजाम दें चुके है. फिलहाल इस गैंग के तीन और लोग पुलिस को चकमा देकर भाग निकले हैं. जिनकी तलाश में पुलिस लगी हुई है.

ये वीडियो भी देखें: