मस्जिद के पास चल रही थी बच्चियों की बलि चढ़ाने की तैयारी, फरिश्ता बनकर आए इमरान भाई

मरान भाई शाह की सतर्कता से दोनों बच्चियों की जान बच गई और आरोपी पुलिस की गिरफ्त में पहुंच गया.

मस्जिद के पास चल रही थी बच्चियों की बलि चढ़ाने की तैयारी, फरिश्ता बनकर आए इमरान भाई
बच्चियों की जान बचाने वाले इमरान भाई शाह (बाएं) और एक अन्य तस्वीर में आरोपी.

गांधीनगर: रमजान के पाक महीने में नेकी की मिसाल कायम करते हुए एक मुस्लिम व्यक्ति ने दो बच्चियों को उस वक्त बचाया जब एक व्यक्ति उन्हें बलि चढ़ाने के लिए ले जा रहा था. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार लिया है. यह घटना गुजरात के किम कोठवा की है. इमरान भाई शाह की सतर्कता से दोनों बच्चियों की जान बच गई और आरोपी पुलिस की गिरफ्त में पहुंच गया. आरोपी व्यक्ति ने दोनों बच्चियों को महाराष्ट्र से अगवा किया था और उसे लेकर गुजरात आ गया था, जहां वह बच्चियों की बलि देने जा रहा था.

पुलिस की प्राथमिक जांच में यह जानकारी सामने आई है कि बच्चियों को बलि के लिए ले जाने वाला आरोपी पहले से ही हत्या के एक मामले में आरोपी है. जानकारी के मुताबिक, दोनों बच्चियों को महाराष्ट्र से अपहरण कर लाया गया था और कोठवा के 52 दरगाह के नजदीक बलि देने की तैयारी कर रहा था, लेकिन ऐसे  वक्त में इमरान भाई शाह उन बच्चियों के लिए फरिश्ता बनकर आए. इमरान की बदैलत दोनों बच्चियां सकुशल अपने परिवार तक पहुंचीं. 

दरअसल, बच्चियों के अपहरण की जांच में जुटी महाराष्ट्र पुलिस ने सूरत के कोसंबा पुलिस से संपर्क किया था, जिसके बाद इस घटना का खुलासा हुआ. आरोपी पर महाराष्ट्र पुलिस ने 7 हजार का इनाम घोषित किया था, जो कि अब इमरान भाई को दिया जायेगा.