close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लुटेरों की पिस्टल से अचानक चली गोली, आवाज सुनकर पुलिस ने वारदात से पहले ही दबोचा

दरअसल इस गैंग ने डिसा के आखोल चार रस्ते के पास स्थित गणेशपुरा दूध मंडल के मंत्री को लूटने का प्लान बनाया था.

लुटेरों की पिस्टल से अचानक चली गोली, आवाज सुनकर पुलिस ने वारदात से पहले ही दबोचा

अल्केश राव /निर्मल त्रिवेदी, बनासकांठाः गुजरात के बनासकांठा जिला पुलिस ने लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले एक अंतर्राज्यीय गैंग को गिरफ्तार किया है. इस गैंग में गुजरात ही नहीं बल्कि यूपी और मध्य प्रदेश के लोग भी शामिल है. लुटेरों के इस गैंग के सदस्यों का पहले से ही क्रिमिनल रिकॉर्ड रहा है. दरअसल इस गैंग ने डिसा के आखोल चार रस्ते के पास स्थित गणेशपुरा दूध मंडल के मंत्री को लूटने का प्लान बनाया था. इस वारदात को अंजाम देने के लिए लुटेरे अपने साथ एक लोडेड रिवॉल्वर लेकर आए थे. इससे पहले की ये लुटेरी अपने टारगेट तक पहुंचते लोड की गई रिवाल्वर में से अचनाक ही फायर हो गया और गोली गैंग के एक बदमाश को लग गई.

जिस लुटेरे को गोली लगी उसका नाम सोनू राजावत बताया जा रहा है. अपने साथी को गोली लगने के बाद इन लुटेरों को लूट का इरादा बीच में छोड़ना पड़ा. लुटेरों ने लूट की वारदात को तो अंजाम नहीं दिया लेकिन फायरिंग की घटना की जानकारी पुलिस को लग गई. पुलिस ने तुरंत ही तफ्तीश शुरू कर दी और पालनपुर के पास इस गैंग का एक सदस्य मारूति इको कार में रिवाल्वर और गोली के निशान के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ गया.

पुलिस द्वारा इस शख्स से कड़ी पूछताछ के आधार पर गैंग के पांच सदस्यों को पकड़ा गया. बताया जा रहा है कि लुटेरों का यह गैंग स्थानीय असामाजिक तत्वों के साथ मिलकर अपनी वारदातों को अंजाम देता था और इस दीपावली त्यौहार के मौके पर यह पहले से ही लगभग दस महत्वपूर्ण लोगों और जगहों पर लूट की वारदात को अंजाम देने का प्लान बना चुके थे. इस लिस्ट में से यह पहली लूट की घटना को अंजाम दे पाते इससे पहले ही इनकी किस्मत ने उनको धोखा दे दिया और अपने ही हथियार से फायर हो जाने के चलते लूट में तो नाकामयाब रहे ही साथ ही पुलिस के हत्थे भी चढ़ गए. 

इन आरोपियों के पास से पुलिस को एक देसी बनावट की पिस्टल और पांच जिन्दा कारतूस मिले है जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है. अब पुलिस इन लुटेरों का इतिहास खंगाल रही है. इन लुटेरों ने अब तक स्थानीय लोगों की मदद से अलग अलग जगहों पर 10 से ज्यादा लूट के कारनामों को अंजाम देने की बात काबूल की है. फ़िलहाल यह लुटेरो का ये अंतराज्यीय गैंगे पुलिस के शिकंजे में है. लेकिन अब पुलिस इस गिरोह के कितने लम्बे तार निकलती है और इनके द्वारा अब तक कितनी वारदातों को अंजाम दिया जा चुका है. इस बात को पता लगाने में जुटी है आने वाले दिनों में इस गैंग से कई बड़ी वारदातों में इनके हाथ होने का पता चलने की सम्भावना है.