close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां में नहीं थम रहा आसमानी आफत का कहर, जोखिम में लोगों की जान

जानकारी के अनुसार शाहबाद क्षेत्र में पिछले डेढ महीने से बारिश का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. 

बारां में नहीं थम रहा आसमानी आफत का कहर, जोखिम में लोगों की जान
स्कूली बच्चों को कंधे पर रखकर स्कूल पार कराते बच्चें.

राम मेहता, बारां: राजस्थान में इस बार आसमानी आफत का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. बारां जिले (Baran District) में बरसात(Rain) का कहर ऐसा है कि लोगों को जान जोखिम में डाल नदी पार करनी पड रही है. वही बच्चें भी स्कूल जाने के लिए जानजोखिम में डालने के लिए मजबूर हैं. अभिभावक चार से पांच फट पानी में होकर निकल कर नदी पार कराते है.

मूसलाधार बारिश से नदियों भी उफान पर
जानकारी के अनुसार शाहबाद क्षेत्र में पिछले डेढ महीने से बारिश का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार हो रही बारिश होने के चलते सिरसा नदी, सूखा नदी, पिडासिल नदी में उफान पर हैं.

दरअसल संदोखड़ा ग्राम पंचायत के ग्राम तिपरका में स्थित राजकीय प्राथमिक स्कूल में तिपरका का साथ साथ नुकर्रा, मानपुर गांव के बच्चे पढ़ने आते हैं. लेकिन मूसलाधार बारिश के चलते नदी नाले उफान पर हैं. ऐसे में स्कूल आने जाने के लिए मानपुर के छात्र-छात्राओं को अपनी जान जोखिम में डालकर नाले में होकर अपने गांव मानपुर जाना पड़ता है और जो बच्चे छोटे हैं उनको अभिभावक कंधों पर बैठाकर नदी पार कराने को मजबूर हैं. ऐसे में जहां बच्चे पूरी तरह पानी में भींग जाते हैं तो वहीं बच्चों के उफान पर चल रही नदी में बहने का डर भी हमेशा बना  रहता है.

Lakshmi Upadhyay, News Desk