close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात में फिर बारिश का कहर, 108 तालुकाओं में 24 घंटों में 118 फीसदी बरसा पानी

Gujarat rain: गुजरात के 108 तालुकाओं में स्थित 80 जलाशयों में 100% से ज्यादा पानी भरा हुआ है.

गुजरात में फिर बारिश का कहर, 108 तालुकाओं में 24 घंटों में 118 फीसदी बरसा पानी
गुजरात में भारी बारिश का कहर जारी है. फाइल फोटो

अहमदाबाद : गुजरात (Gujarat) में इन दिनों भारी बारिश का कहर जारी है. यहां की 108 तालुकाओं में 24 घंटों में 118.11 फीसदी बारिश दर्ज की गई है. इस बारिश के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. खभालिया में 8 इंच बारिश हुई है तो वही वलसाड, उमरपाडा और जामजोधपुर में 4 इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. राज्य के 204 जलाशयों में कुल 4,63,834.28 एमसीएफटी जलसंग्रह में कुल 94.67% बारिश हुई है.

गुजरात के 108 तालुकाओं में स्थित 80 जलाशयों में 100% से ज्यादा पानी भरा हुआ है. 68 जलाशयों 70% से 100% के बीच भरे हुए हैं. सरदार सरोवर में 316274.08 एमसीएफटी पानी भरा है. कुल जलसंग्रह शक्ति का 94.67% है. मॉनसून 2019 के दौरान बारिश के मौसम की 118.11% बारिश हो चुकी है.

कच्छ रीजन में 142.18%, उत्तर गुजरात में 93.04%, पूर्व मध्य गुजरात में 107.05%, सौराष्ट्र में 119.88% और दक्षिण गुजरात 127.77% जितनी औसतम बारिश हुई है. राज्य के 75 तालुकाओं में 40 इंच से ज्यादा बारिश हुई है, 150 तालुकाओं में 20 इंच से 40 इंच के बिच बारिश हुई है. 26 तालुकाओं में 10 इंच से 20 इंच के बीच बारिश हुई है.

देखें LIVE TV

राज्य में हुई बारिश के आंकड़ों के मुताबिक राज्यों के 204 जलाशयों में 4,63,834.28 एमसीएफटी जल संग्रह शक्ति 83.32% जितना होता है. राज्य के पशुधन के समान सरदार सरोवर जलाशय में 316274.08 एमसीएफटी जल संग्रहण. कुल संग्रह शक्ति 94.61% जितना हुआ है. राज्य के 80 जलाशय 100% से ज्यादा भरे है. 68 जलाशय 70 से 100 % के बीच भरे हुए हैं.

20 जलाशय 50 से 70 % के बीच भरे हुए हैं. 14 जलाशय 25 से 50% के बीच और 22 जलाशय 25% से काम भरे हुए हैं. उत्तर गुजरात के 15 जलाशय 53.63% भरे हुए हैं. मध्य गुजरात के 17 जलाशय 96.10% भरे हुए हैं. दक्षिण गुजरात 13 जलाशय 87.20% भरे हुए हैं. कच्छ के 20 जलाशयों में 76 .03% वही सौराष्ट्र में 139 जलाशयों में 81.75% जितना जलसंग्रह हुआ हैं.

सरदार सरोवर जलाशय में फिलहाल 806961 क्यूसेक पानी का इनफ्लो और 715903 क्यूसेक पानी का ऑउटफ्लो है. उकाई में फिलहाल 72,999 क्यूसेक पानी का इनफ्लो और 118774 क्यूसेक ऑउटफ्लो है. वनाकबोरी में फिलहाल 41059 क्यूसेक पानी का इनफ्लो और 41059 क्यूसेक ऑउटफ्लो है. कडाणा में फिलहाल 35502 क्यूसेक पानी का इनफ्लो और 27817 क्यूसेक ऑउटफ्लो है.

दमनगंगा में फिलहाल 18010 क्यूसेक पानी आवक और 21377 क्यूसेक पानी का ऑउटफ्लो है. हिरण-2 जलाशय में फिलहाल 10351 क्यूसेक पानी का इनफ्लो और 10351 क्यूसेक पानी का आउटफ्लो है. नर्मदा बांध से पानी के प्रवाह बढ़ने से हाल के इतिहास के सतह में पहली बार 137.05 मीटर है. पानी की आय 8,06,558 क्यूसेक है और निकास  8,05,915 क्यूसेक है जोकि 4.15 मीटर तक दरवाजे खोलकर नदी में छोड़ा जा रहा है. बांध में 5176 एमसीएम लाइव स्टोरेज है. पानी भरने के मुद्दे भरुच और नर्मदा जिले के तट क्षेत्र में ज्यादा पानी भर जाने की वजह से मप्र से आने वाले पानी को सरदार सरोवर में भरनेका निर्णय गुजरात सरकार ने किया है.  क्‍योंकि ओम्कारेश्वर और इंदिरा सागर, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के अपने वर्तमान टरबाइन जारी है.

तापी: तापी जिले के सेवा सदन में बारिश का पानी भरा हुआ है. लगातार भारी बारिश की वजह से जिले में कई इलाकों में पानी भर गया है. तापी कलेक्टर और एसपी के बंगले के नजदीक भी सड़कों पर पानी भर गया है. सड़क पर मकान विभाग के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे इलाके से पानी निकालने की कोशिश जारी.

सूरत: सूरत में लगातार बारिश हो रही है. कतारगाम, वेडरोड, वराछा समेत के इलाकों में बारिश हो रही है.

पोरबंदर: पोरबंदर के फोड़ाला डैम का जलस्तर बढ़ने से आसपास के गांवों को अलर्ट किया गया है. राणावाव तालुका के 17 गावों को अलर्ट किया गया है. बिलेश्वर, हनुमानगढ़ समेत के गावों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है. ऊपरी इलाके के पानी का इनफ्लो बढ़ने से डेम 80 प्रतिशत भर गया है. फिलहाल डेम का जल स्तर 92.09 पहुंचा है.
डैम में 1481.34 क्यूसेक पानी का इनफ्लो.

वलसाड: वलसाड के भागदावाड़ा गांव में बारिश का पानी भर गया है. देर रात लोगों के घर में पानी घुस गया था जिससे लोग बेहद परेशान दिख रहे हैं. घर में बारिश का पानी घुस जाने से लोगों के घर के सामानों को नुकसान पहुंचा है. लोगों ने ग्राम पंचायत के सत्ताधीशों के खिलाफ रोष व्यक्त किया है. वलसाड जिले बारिश का माहौल छाया हुआ है. लोगों के घरों में बिल्डिंग में पार्किंग में बारिश का पानी भर गया है.

महिसागर: महिसागर जिले के लूणावाड़ा में भारी बारिश हो रही है. सुबह से ही घने बादल छाए हुए थे जिसके बाद बारिश शुरू हो गई. आज गणेश विसर्जन है और साथ ही भारी बारिश को देखते हुए पंडाल के लोग चिंता में है. काले घने बादल के साथ हो रही बारिश से दिन में ही शाम जैसा अंधेरा छा गया है.