close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र: बीड़ की रैली में बोले अमित शाह, 'वंचितों और OBC के विकास के लिए काम कर रहे हैं'

अमित शाह यहां परली विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री पंकजा मुंडे के लिए चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान अमित शाह का परंपरागत साफा पहनाकर स्वागत किया गया.

महाराष्ट्र: बीड़ की रैली में बोले अमित शाह, 'वंचितों और OBC के विकास के लिए काम कर रहे हैं'
फाइल फोटो

बीड़: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी का प्रचार अभियान आज विजयादशमी के पावन दिन से से शुरू हो गया. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह महाराष्ट्र के बीड जिले के सावरगांव में दशहरा उत्सव में शामिल होने के लिए पहुंचे. इस दौरान अमित शाह ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कहा, 'आपने मोदी को 300 सीटें दी और मोदीजी ने 5 महीने में 370 हटा दी. आज उनके सम्मान में 370 ध्वज लेकर राष्ट्रभक्त खड़े हैं.'

अमित शाह यहां परली विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री पंकजा मुंडे के लिए चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान अमित शाह का परंपरागत साफा पहनाकर स्वागत किया गया.

महाराष्ट्र के ओबीसी समुदाय के बारे में बोलते हुए गृह मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार वंचितों और ओबीसी समाज के लिए भगवान बाबा के रास्ते पर चलने का काम किया है. ओबीसी समाज को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया है और ओबीसी समाज केलिए संवैधानिक आयोग की रचना का काम किया है. मोदीजी के नेतृत्व में देश दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है. वंचितों के विकास के लिए बाबासाहेब अंबेडकर की जो कल्पना थी उसी तरह मोदी सरकार काम कर रही है.

चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, 'पांच साल पहले 2014 में भगवान गढ़ आया था, अब 5 साल बाद भगवान बाबा के गांव सावरगांव में आया हूं. भगवान बाबा के स्मृति का सुंदर निर्माण पंकजा मुंडे ने किया. यह वंचितो के लिए आदर्श बनेगा. वंचित समाज के लिए भगवान बाबा ने कार्य किया था, उन्होंने प्रगति का रास्ता वंचित को लिए बनाया. शिक्षा के रास्ते पर वंचित समाज को ले जाने के लिए भगवान बाबा ने कार्य किया. उनकी स्मृति चिंरजीव बनाने के लिए गोपीनाथ मुंडेजी ने कार्य किया है. पंकजा मुंडे उस कार्य को आगे बढा रही हैं.

गोपीनाथ मुंडे ने गन्ना कटाई मजदूरों और चीनी कारखानों में काम करने वाले मजदूरों के लिए पूरा जीवन लगाया था. पंकजा मुंडे भी उसी रास्ते पर चल रहीं हैं. पांच साल पहले भगवान बाबा का स्मारक बनाने के घोषणा मेरे उपस्थिति में पंकजा ताई ने की थी, अब यह स्मृति स्थल उन्होंने ट्रस्ट के माध्यम से खडा किया है.