close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा कलेक्टर ओम कसेरा की मानवीय पहल, विमंदित मां-बेटे को पहुंचाया आश्रय घर

कोटा(Kota) के जिला कलेक्टर ओम कसेरा(District Collector Om Kasera) इन दिनों फिर से अपनी कार्यशैली को लेकर चर्चा में हैं.

कोटा कलेक्टर ओम कसेरा की मानवीय पहल, विमंदित मां-बेटे को पहुंचाया आश्रय घर
विमंदित मां बेटे के साथ कोटा जिला कलेक्टर.

मुकेश सोनी, कोटा: कोटा(Kota) के जिला कलेक्टर ओम कसेरा(District Collector Om Kasera) इन दिनों फिर से अपनी कार्यशैली को लेकर चर्चा में हैं. आज भी उन्होंने सारा काम छोड़कर लावारिस हालात में लैंडमार्क सिटी में नहर की लोहे की पुलिया पर बैठे विमंदित मां-बेटे को अपना आश्रम पहुंचाया.

दरअसल किसी अज्ञात व्यक्ति ने एक विमंदित महिला के लावारिस हालात में नहर किनारे पड़े होने की सूचना जिला कलेक्टर कार्यालय पर दी. सूचना पर कलेक्टर ओम कसेरा ने अपना काम छोड़कर विमंदित महिला की मदद करने की ठानी. उन्होंने तुरन्त सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक ओम प्रकाश तोषनीवाल को फोन किया. इस दौरान जिला कलेक्टर कसेरा ने कुन्हाड़ी क्षेत्र की लैंडमार्क सिटी में अपने साथ चलने के लिए बोला.

सूचना पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक ओम प्रकाश भी निकल पड़े. कलेक्टर ओम कसेरा ने ओम प्रकाश तोषनीवाल को साथ लेकर मौके पर रेस्क्यू करते हुए अपना घर आश्रम टीम को मौके पर बुलाया. 

इस दौरान स्थानीय लोगों से पूछताछ करने पर पता चला कि विमंदित महिला का नाम शकीना है. उसके साथ लगभग 14 वर्षीय बेटा अमजद रहता है. दोनों लंबे समय से यहां रहते हैं. महिला का बेटा सम्भवतया नशे का शिकार है. फिलहाल अपना घर आश्रम के मनोज जैन आदिनाथ अपनी टीम के साथ एंबुलेंस से मां और बेटे को अपना घर आश्रम ले गये.