close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुलभूषण जाधव मामले में ICJ आज आ सकता है फैसला, दोस्तों ने कहा- घर लौटेंगे जाधव

कुलभूषण के दोस्तों मानना है कि जिस तरह से भारत सरकार ने इस पूरे मामले को अंतरराष्ट्रीय अदालत के सामने रखा है, जिस तरह की दलीलें दी गई है, उन्हें यह विश्वास है कि फैसला कुलभूषण की रिहाई का ही आएगा. 

कुलभूषण जाधव मामले में ICJ आज आ सकता है फैसला, दोस्तों ने कहा- घर लौटेंगे जाधव
कुलभूषण जाधव (फाइल फोटो)

मुंबई: कुलभूषण जाधव मामले में 17 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय अदालत का फैसला आ सकता है. कुलभूषण के दोस्त उनकी वापसी का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. उन्हें पूरा यकीन है कि फैसला कुलभूषण के हक में आएगा. 

कुलभूषण के दोस्तों और समर्थकों का यह मानना है कि जिस तरह से भारत सरकार ने इस पूरे मामले को अंतरराष्ट्रीय अदालत के सामने रखा है, जिस तरह की दलीलें दी गई है, उन्हें यह विश्वास है कि फैसला कुलभूषण की रिहाई का ही आएगा. यही वजह है कि कुलभूषण जाधव के सपोर्टर्स ने मुंबई में उनके निवास स्थान पर एकजुट हो ,उनकी इस रिहाई का जश्न मनाने की पहले से ही पूरी तैयारी की है.

मुंबई से हैं कुलभूषण जाधव
बता दें कुलभूषण जाधव का निवास स्थान मुंबई के लोअर परेल इलाके में है. यहां बुधवार को उनके दोस्तों ने मिलकर अलग-अलग कार्यक्रम रखे हैं जिसमें उनके हिंदू और मुसलमान दोस्त पूजा, प्रार्थना और नमाज पढ़ेंगे. कैंडल्स जलाएंगे और कुलभूषण की रिहाई का प्रतीक देते हुए पंछी (कबूतर) को आजाद करेंगे.

कुलभूषण जाधव के दोस्त अरविंद सिंह ने बताया कि उनके जाने के बाद एक मुहिम की तरह हमने भारत सरकार तक कुलभूषण की रिहाई का संदेश पहुंचाने की कोशिश की थी. कुल 6-7 दोस्तों  ने मिलकर मुहिम शरू की थी जोकि धीरे-धीरे देश की मुहिम बन गई.' अरविंद को बेहद खुशी है कि भारत सरकार ने इस मुद्दे को उठाया और हमारा साथ दिया और आज अंतरराष्ट्रीय अदालत में यह मुकदमा हमारे पक्ष में आता नजर आ रहा है.

अरविंद सिंह ने कहा कि कुलभूषण की हमेशा से कोशिश रहती थी कि वह अपने दोस्तों के साथ अच्छा वक्त बिताए. इतना ही नहीं वह अक्सर गरीबों की मदद भी करते थे. अरविंद कहते हैं कि अब इंतजार इस बात का है कि कुलभूषण जल्द घर लौट आएं.

पाकिस्तान ने मार्च 2016 में जाधव को गिरफ्तार किया था
आपको बता दें कि पाकिस्तान का कहना है कि भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव एक बिजनेसमैन नहीं बल्कि जासूस है. पाकिस्तान ने 3 मार्च 2016 को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था. जिसके बाद अप्रैल 2017 में पाकिस्तानी कोर्ट ने कुलभूषण को मौत की सजा सुनाई थी लेकिन मई 2017 में भारत में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में यह मामला उठाया.

भारत-पाक ने अपनी-अपनी दलीलें रखी दी है और अब इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस कुलभूषण जाधव मामले में 17 जुलाई को फैसला सुना सकती है.