खबर का असर: राजस्थान में ITI सेंटर्स पर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच शुरू

मामले में बात करते हुए आरएसएलडीसी के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ.समित शर्मा ने कहा, निगम ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को पत्र लिखकर करोडों रूपए घपले की जांच को कहा है.

खबर का असर: राजस्थान में ITI सेंटर्स पर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच शुरू

जयपुर: राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम फर्जी आईटीआई सेंटर्स पर सख्त कार्रवाई कर रहा है. छात्रवृत्ति के नाम पर हुई करोडों रूपए के घपले के बाद अब विकास निगम एक्शन में आ गया है. आरएसएलडीसी ने सामाजिक न्याय विभाग को पत्र लिखकर जांच के लिए कहा है. दूसरी ओर जी मीडिया की पड़ताल के बाद कई आईटीआई सेंटर बंद भी होंगे.

अब सामाजिक न्याय विभाग छात्रवृत्ति के घोटाले की जांच करेगा. हालांकि, सामाजिक न्याय विभाग ने दो महीने पहले ही सभी जिला कलक्टर को पत्र लिखकर छात्रवृत्ति को लेकर जांच के आदेश दिए हैं लेकिन सबसे गंभीर बात ये है कि अब तक कलेक्टर्स की रिपोर्ट ही सामाजिक न्याय विभाग के मुख्यालय तक पहुंची ही नहीं.

मामले में बात करते हुए आरएसएलडीसी के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ.समित शर्मा ने कहा, निगम ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को पत्र लिखकर करोडों रूपए घपले की जांच को कहा है. अब सामाजिक न्याय विभाग छात्रवृत्ति के घोटाले की जांच करेगा. 

विभागीय जांच और जी मीडिया की पड़ताल के बाद फर्जी आईटीआई सेंटर्स पर पूरी तरह से लगाम लगेगी. अनियमिततओं के चलते 20 आईटीआई संचालकों ने तो खुद ही सेंटर्स बंद करने का फैसला लिया है. आरएसएलडीसी की जांच में 423 आईटीआई सेंटर्स पर गंभीर अनियमितताएं और 800 सेंटर्स पर काफी कमियां पाई गई थी. जिसके बाद विभाग ने लापरवाही करने वाले आईटीआई सेंटर्स को नोटिस थमाया है. अब विभाग ये सुनिश्चित कर रहा है कि इन सेंटर्स पर सुधार कैसे किया जाए. इसके लिए अब विभाग जल्द ही सभी सेंटर्स की ट्रेनिंग करवाकर नए नियम लागू करेगा.