close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

17 साल की किशोरी बनी एक दिन की कमिश्नर,पढ़िए क्या थी वजह...

राम्या को एक कमिश्नर की जिम्मेदारी और उसका काम सिखाने के लिए रचाकोंडा कमिश्नर और एडिशनल कमिश्नर दोनों कार्यालय में मौजूद थे.

17 साल की किशोरी बनी एक दिन की कमिश्नर,पढ़िए क्या थी वजह...
फोटो साभार: ANI Twitter

हैदराबाद : 17 साल की राम्या के लिए उसकी जिंदगी का बड़ा दिन वो था जब उसका सपना पूरा किया गया और एक दिन के लिए तेलंगाना के रचाकोंडा की पुलिस कमिश्नर की कुर्सी पर बैठाया गया. दरअसल राम्या ब्लड कैंसर जैसी भयावह बीमारी से पीडि़त हैं. उन्होंने मेक अ विश फाउंडेशन के सामने अपनी एक विश रखी थी कि वो एक दिन के लिए कमिश्नर की कुर्सी पर बैठकर कमिश्नर का काम करना चाहती हैं, जिसके बाद फाउंडेशन के सदस्यों ने रचाकोंडा के कमिश्नर महेश भागवत को पत्र लिख राम्या की ये इच्छा पूरी करने की अपील की थी. ये अपील स्वीकार हुई और मंगलवार को राम्या को एक दिन का कमिश्नर बनाया गया. 

LIVE TV....

राम्या को गार्ड ऑफ़ ऑनर भी दिया गया. पूरे वक़्त राम्या की माँ पद्मा उनके साथ वहां मौजूद थी. राम्या को एक कमिश्नर की जिम्मेदारी और उसका काम सिखाने के लिए रचाकोंडा कमिश्नर और एडिशनल कमिश्नर दोनों कार्यालय में मौजूद थे. कमिश्नर महेश भागवत और एडिशनल पुलिस कमिश्नर सुधीर बाबू ने राम्या के जल्द स्वस्थ होने की कामना की. महेश भागवत ने राम्या के इलाज के खर्च में उनके परिवार की मदद की. 

ये पहली बार नहीं है जब किसी को एक दिन के लिए पुलिस कमिश्नर बनाया गया हो. इससे पहले भी कई ऐसी घटनायें हुई हैं जहां लोगों की भावनाओं का सम्‍मान रखते हुए उनकी इच्‍छाएं पूरी की गई हैं.