बीकानेर के महाजन फायरिंग रेंज में भारत और फ्रांस की सेना के बीच युद्दाभ्यास

भारतीय सेना ने हर मोर्चे पर अपना भरपूर दमखम और ताकत का प्रदर्शन किया है. हालांकि ये साझा युद्दा भ्यास आगामी 13 नवंबर तक चलेगा, जिसमें दोनों ही सेनाएं अपना दमखम और शौर्य का प्रदर्शन करेगी.

बीकानेर के महाजन फायरिंग रेंज में भारत और फ्रांस की सेना के बीच युद्दाभ्यास

रौनक व्यास, बीकानेर : एशिया के सबसे बड़े महाजन का फ़ील्ड फ़ायरिंग रेंज में इन दिनों शक्ति युद्धअभ्यास 2019 चल रहा है. जहां एक बार फिर से भारत और फ़्रांस की सेना आतंकवाद के खिलाफ युद्द अभ्यास कर रही है. थार का मरुस्थल सेना के जवानों के दमखम से थर्रा रहा हैं.  वहीं फ्रांस सेना के जवानों का स्वागत पारम्परिक रूप से किया गया.

वहीं फांस के जवान फिलहाल यहां की परिस्थितियों को समझने में लगे हैं. जहां कल से शुरू हुए इस अभ्यास में अब तक फ्लैग होस्टिंग के साथ दोनों सेना के अधिकारियों ने अपनी-अपनी जानकारी एक दूसरे के साथ सांझा की. तो वहीं इसके साथ फ़िज़िकल ट्रेनिंग सेशन और कई तरह के गेम जैसे बॉलीबॉल , और दूसरे खेलों के जरिए जवानों ने एक दूसरे को जाना. इसके साथ ही रेगिस्तान में हरियाली  के लिए पौधारोपण भी किया गया. 

आने वाले 13 नवम्बर तक सेनाओं का ये साझा युद्दाभ्यास चलता रहेगा. दोनों ही सेनाओं की तरफ से अब तक गजब के सौर्य का प्रदर्शन किया गया. वहीं भारतीय सेना का भी जबरदस्त पराक्रम दिखाई दिखाई दिया. भारतीय सेना ने हर मोर्चे पर अपना भरपूर दमखम और ताकत का प्रदर्शन किया है. हालांकि ये साझा युद्दा भ्यास आगामी 13 नवंबर तक चलेगा, जिसमें दोनों ही सेनाएं अपना दमखम और शौर्य का प्रदर्शन करेगी. वहीं इस पूरे युद्दाभ्यास में आतंकवाद को लेकर पर फोकस किया जा रहा. ताकि विश्व जिस खतरे से जूझ रहा है, उससे निपटने के लिए दोनों देशों की सेनाएं पूरी तैयारी में हर वक्त रहें.