close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान के ननकाना साहिब से निकला अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन, पहुंचा राजस्थान

गुरूनानक देव के 550 वें प्रकाशोत्सव पर पाकिस्तान के ननकाना साहिब से निकले अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन के हनुमानगढ़ पहुंचने पर हजारों नागरिकों ने नगर कीर्तन का जगह-जगह जोरदार स्वागत किया. जिले के संगरिया से हनुमानगढ़ जंक्शन तक विभिन्न धर्मों के नागरिकों ने नगर कीर्तन का स्वागत किया और गुरूओं के शस्त्रों और खड़ाऊ के दर्शन किये. 

पाकिस्तान के ननकाना साहिब से निकला अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन, पहुंचा राजस्थान
हजारों नागरिकों ने नगर कीर्तन का जगह-जगह जोरदार स्वागत किया

मनीष शर्मा, हनुमानगढ़ : गुरूनानक देव के 550 वें प्रकाशोत्सव पर पाकिस्तान के ननकाना साहिब से निकले अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन के हनुमानगढ़ पहुंचने पर हजारों नागरिकों ने नगर कीर्तन का जगह-जगह जोरदार स्वागत किया. जिले के संगरिया से हनुमानगढ़ जंक्शन तक विभिन्न धर्मों के नागरिकों ने नगर कीर्तन का स्वागत किया और गुरूओं के शस्त्रों और खड़ाऊ के दर्शन किये. 

पाकिस्तान के ननकाना साहिब से राजस्थान पहुंचे नगर कीर्तन का जिले की संगरिया सीमा से हनुमानगढ़ जंक्शन तक स्वागत हुआ .नागरिकों की भारी भीड़ और उत्साह को देखते हुए पुलिस को विशेष इंतजाम करने पड़े और विभिन्न मार्गों से यातायात डायवर्ट करना पड़ा. नगर कीर्तन रविवार रात को संगरिया से हनुमानगढ़ टाउन के गुरूद्वारा सुखा सिंह महताब सिंह पहुंचा जहां आज सुबह नगर कीर्तन टाउन से जंक्शन पहुंचा और वहां से श्रीगंगानगर रवाना हो गया. जहां से नगर कीर्तन वापिस पंजाब में प्रवेश कर जायेगा.

नगर कीर्तन का विभिन्न धर्मों के नागरिकों ने स्वागत किया. जंक्शन में कब्रिस्तान के पास मुस्लिम समाज ने नगर कीर्तन का स्वागत किया जहां जिला कलक्टर जाकिर हुसैन स्वयं मौजूद रहे, नगर कीर्तन को लेकर नागरिकों का उत्साह इतना ज्यादा था कि टाउन से जंक्शन तक जिस मार्ग से नगर कीर्तन को निकलना था उसकी सफाई नागरिक सुबह से ही करने लग गये थे और पूरे मार्ग पर नागरिकों की जमकर भीड़ जुटी रही. नगर कीर्तन के कारण श्रद्धा स्वरूप कई प्रतिष्ठान बंद रखे गये और नगर कीर्तन के आगे-आगे पूरे मार्ग पर पानी के छिड़काव सहित नागरिकों में पूरा श्रद्धाभाव देखने को मिला.

नगर कीर्तन में गुरू ग्रंथ साहिब को सोने की पालकी में सजाया गया था और गुरू नानक देव जी के खड़ाऊ सहित गुरू हर गोबिन्द राय और गुरू गोबिन्द सिंह के शस्त्रों को एक बस में सजाया गया था. नगर कीर्तन देश के 17 राज्यों और सिखों के पांचों तख्तों पर जायेगा.अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन देश के 17 राज्यों में जायेगा जिसमें राजस्थान में नगर कीर्तन हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर दो जिलों से ही वापिस पंजाब के मुक्तसर साहिब चला जायेगा और इसका समापन 5 नवम्बर को पंजाब के कपूरथला जिले के सुल्तानपुर लोधी में होगा.