सिंचाई घोटाले में एसीबी के हलफनामे में अजीत पवार का नाम ‘राजनीति से प्रेरित’: NCP

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने एसीबी के उस हलफनामे को ‘राजनीति से प्रेरित’ करार दिया है जिसमें कई करोड़ रूपये के कथित सिंचाई घोटाले में पूर्व उप मुख्यमंत्री अजीत पवार और अन्य की ओर से बड़ी खामियां किए जाने का दावा किया गया है.

सिंचाई घोटाले में एसीबी के हलफनामे में अजीत पवार का नाम ‘राजनीति से प्रेरित’: NCP
(फाइल फोटो)

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने एसीबी के उस हलफनामे को ‘राजनीति से प्रेरित’ करार दिया है जिसमें कई करोड़ रूपये के कथित सिंचाई घोटाले में पूर्व उप मुख्यमंत्री अजीत पवार और अन्य की ओर से बड़ी खामियां किए जाने का दावा किया गया है.

एनसीपीके मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने सवाल किया कि चार सालों तक जांच की रफ्तार सुस्त क्यों रही ‘जबकि यह एक साल में पूरा हो सकती थी .’ उन्होंने सरकार पर इसे पार्टी के खिलाफ ‘एक हथियार के रूप में’ इस्तेमाल करने का आरोप लगाया. नवाब मलिक ने कहा,‘यह राजनीति से प्रेरित है. जैसा की दादा (पवार) ने पहले ही कहा है, हम निश्चित रूप से अदालत में अपना पक्ष रखेंगे और अदालत निर्णय लेगी.’

जांच पूरी होने में लगे समय पर सवाल उठाने के अलावा मलिक ने यह भी जानना चाहा कि ‘अगर कोई भ्रष्टाचार था’ तो संबंधित अनुबंधों को अभी तक रद्द क्यों नहीं किया गया है. इस बीच, महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन ने बुधवार को कहा था कि पूर्ववर्ती कांग्रेस-एनसीपीसरकार के सत्ता में रहने के दौरान हुए कथित सिंचाई घोटाले की जांच में कोई भी राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है.

महाराष्ट्र भ्रष्टाचार विरोधी ब्यूरो (एसीबी) ने बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ को मंगलवार को सूचना दी कि कथित घोटाले में उसकी जांच में खुलासा हुआ है कि पवार और अन्य सरकारी अधिकारियों की ओर से बड़ी खामियां रही.