close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

क्या दाऊद इब्राहिम ने गोल्ड की तस्करी फि‍र से शुरू करने के लिए भतीजे को भेजा था मुंबई!

दाऊद गोल्ड स्मगलिंग का पुराना खिलाड़ी है. सरकार ने सोने पर जो इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है. इसी का फायदा उठाने के लिए वह अपना सेटअप लगाकर गोल्ड की स्मगलिंग फिर से शुरू करना चाहता हो.

क्या दाऊद इब्राहिम ने गोल्ड की तस्करी फि‍र से शुरू करने के लिए भतीजे को भेजा था मुंबई!

विशाल सि‍ंह, मुंबई: दाऊद इब्राहि‍म के भतीजे रिज़वान कासकर को मुंबई क्राइम ब्रांच ने हफ्ता वसूली के मामले में गिरफ्तार किया है. जिस मामले में गिरफ्तारी हुई है वह केवल सोलह लाख का मामला है. ऐसे में ये सवाल उठता है कि अरबों की संपत्ति का मालिक दाऊद इब्राहिम का भतीजा सिर्फ 16 लाख के मामले के लिए मुंबई नहीं आया होगा. यकीनन वो किसी और मामले को लेकर मुंबई आया होगा.

दाऊद की बहन हसीना पारकर के मौत के बाद दाऊद का भाई इक़बाल कासकर दाऊद का काला कारोबार संभाल रहा था, लेकिन 2 साल पहले हफ्ता वसूली के मामले में उसे ठाणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था. तब से वह जेल में ही है. ऐसे में या कयास लगाए जा रहे हैं कि दाउद रिज़वान के जरिये कोई संदेश इक़बाल तक पहुंचाना चाहता हो.

ये तो पहला कारण हुआ रिज़वान के मुंबई आने का. वहीं दूसरे कारण पर गौर करें और सूत्रों की माने तो बजट में सरकार ने सोने पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है. ऐसे में सोने की तस्करी बढ़ने के आसार हैं और दाऊद फिर से सोने की तस्करी में अपने पैर फैलाना चाहता है. दाऊद का काम संभाल रहा इक़बाल कासकर जेल में है तो वह दूसरे लोग जो फिलहाल दाऊद से अलग रहकर अपना कारोबार चला रहे हैं उनको फिर से अपने साथ कर वह सोने की तस्करी शुरू करना चाहता है.

रिटायर्ड आइपीएस अधिकारी पी के जैन की मानें तो रिज़वान का मुंबई आना रेकी मिशन हो सकता है. वह यहां आकर देखना चाहता है कि क्या क्या पॉसिबल है. सुरक्षा एजेंसी के पास क्या क्या यंत्र हैं और इन सबकी रेकी करने वो आया हो.

दाऊद गोल्ड स्मगलिंग का पुराना खिलाड़ी है. सरकार ने सोने पर जो इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है. इसी का फायदा उठाने के लिए वह अपना सेटअप लगाकर गोल्ड की स्मगलिंग फिर से शुरू करना चाहता हो. और इसी को लेकर वह काम कर रहा हो. वहीं मोदी सरकार ने वादा किया था की दाऊद को भारत लाया जाएगा. इसी की तर्ज पर सभी एजेंसियां डी गैंग को कमजोर करने में लगी हैं.

सोने की तस्करी में दाऊद पहले ही हाथ आज़माता रहा है. अब इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ने से सोने के तस्कर और भी ज्यादा एक्टिव हो गए हैं. ऐसे में दाऊद सोने की तस्करी में पैसे बनाना चाहता है. दुबई के रास्ते सोना भारत आता है. किसी फ्लाईट के जरिए सोने का कन्साईमेनंट भारत नहीं लाया जा सकता है. ऐसे में दाउद समुद्री मार्ग से ही सोने की तस्करी करेगा.

इसके पहले दाउद का स्मगलिंग का माल समुद्री मार्ग से ही मुंबई आता था. इस समुद्री मार्ग से उसने 1993 में बड़ी मात्रा में आरडीएक्स भेजा था. ऐसे में मुंबई, गुजरात और कर्नाटक की समुद्री सीमा का इस्तेमाल कर दाऊद सोने की तस्करी कर सकता है. फिलहाल इन सबको लेकर दाउद का प्लान क्या है? रिजवान के जरिए वो क्या प्लान कर रहा है इसकी जांच मुंबई पुलिस कर रही है और दाउद के भतीजे रिजवान से पूछताछ भी कर रही है. रिजवान को भारत आने जाने भी कोई दिक्कत ना हो इसके लिए रिजवान ने अपने पासपोर्ट से कासकर सरनेम हटाकर शेख कर दिया था.