Lockdown में नासिक में फंस गया था ITBP का जवान, अब पुलिस के साथ कर रहा ड्यूटी

कैलाश हिरासास कनोजिया ( उम्र 28 साल ) वाराणसी का रहनेवाला है. वह छत्तीसगड में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) की 40 बटालियन में कार्यरत है. 

Lockdown में नासिक में फंस गया था ITBP का जवान, अब पुलिस के साथ कर रहा ड्यूटी

नासिकः (संवाददाता- किरण ताजणे) भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) का जवान छुट्टी में अपने घर आया था और उसके बाद Lockdown की वजह से अपनी रेजिमेंट जॉइन नहीं कर पा रहा है. और नासिक में ही अटका हुआ है . मगर घर बैठकर आराम करने के बजाय वो रोज जाकर पुलिस के काम में हाथ बढ़ा रहा है.

कैलाश हिरासास कनोजिया ( उम्र 28 साल ) वाराणसी का रहनेवाला है . वह छत्तीसगड में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) की 40 बटालियन में कार्यरत है.  25 फरवरी से एक महिने की छुट्टी पर नासिक आया था. छुट्टी का समय खत्म हो रहा था तभी लॉकडाउन की घोषणा हो गई. . इसके चलते आईटीबीपी जवान कैलाश की छुट्टी बढ़ गई. लेकिन  इस जवान का मन नही लग रहा था.  देश सेवा के लिए तत्पर कैलाश ने नासिक के अंबड पुलीस थाने सें संपर्क किया और कोरोना के इस संकट में काम करने कि इच्छा जताई .

अंबड पुलीस थाने के वरिष्ठ पुलीस निरीक्षक कुमार चौधरी ने इस जवान को पुलिस के साथ काम करने की मंजूरी दे दी. अब नासिक पुलिस के साथ मिलकर नाकाबंदी का काम कर रहा है .

ITBP जवान कैलाश कनोजिया का कहना है- मैं पिछले महिने में छुट्टी पर नासिक आया थ लेकिन  लॉकडाउन के चलते मेरी छुट्टी बढ़ गई है . मैंने नासिक पुलिस के साथ काम करने की इच्छा जताई थी. उन्होंने अनुमति दे दी है. मैं अंबड पुलीस थाने में पेट्रोलिंग का काम करता हूं. 

कैलाश आईटीबीपी की यूनिफॉर्म में पुलिस के साथ मिलकर पेट्रोलिंग का काम करता है. वह सुबह 10 से रात 10 बजे तक पेट्रोलिंग ड्युटी पर तैनात रहता है. 

नासिक के अंबड पुलिस थाने के सहायक पुलीस निरीक्षक संजय बेडवाल ने बताया की ITBP जवान कैलाश लॉकडाऊन मे नासिक में फंस गया . उसने नासिक पुलिस के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई थी. हमने अनुमती दे दी . वह नाकाबंदी और पेट्रोलिंग के काम में पुलिस के साथ ड्युटी निभा रहा है .

मुंबई में मजदूरों का पलायन जारी 
वहीं  कोरोना महामारी के चलते रोज दिहाड़ी मजदूर शहर से गांव की और पलायन करने में लगे हुए है। मुंबई से पलायन की कोशिश लगातार जारी है, रविवार रात ऐसा ही मामला सामने आया मुम्बई के अंधेरी में. 

रविवार रात को नाकाबंदी के दौरान जोगेश्वरी विक्रोली लिंक रोड पर पुलिस ने दो टेम्पो को रोका और खुलवाया तो उसमें 40 लोग मौजूद थे जो टेम्पों में भर कर उत्तर प्रदेश जा रहे थे. दोनो टेम्पो चालकों को पुलिस ने अपने कस्टडी  में ले लिया है आगे की करवाई कर रही है.

ये भी देखें-