close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जालौर: दूध के बकाए भूगतान से पशुपालक परेशान, कर रहे धरना-प्रदर्शन

ऐसा ही कुछ मामला राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर में सामने आ रहा है. जहां बकाया राशि के लिए पशुपालक धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

जालौर: दूध के बकाए भूगतान से पशुपालक परेशान, कर रहे धरना-प्रदर्शन
प्रतीकात्मक तस्वीर

सांचौर (जालौर): देश में आपने बड़े-बड़े घोटाले देखे होंगे लेकिन आज हम एक ऐसे घोटाले की बात कर रहे हैं जो किसानों से जुड़ा हुआ है. किसान अपनों को दूध नहीं पिलाकर घर की रोजी-रोटी व माली हालत सुधारने के लिए अपने पशुओं का दूध पृथ्वीमेडा पंचगव्य प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को दिया. ताकि अपने घर की दशा सुधार सके लेकिन यही कंपनियां जब इन किसानों की दुश्मन बन जाती है, तो किसानों की हालत क्या होगी यह आप खुद समझ सकते है.

ऐसा ही कुछ मामला राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर में सामने आ रहा है. जहां पर पृथ्वीमेडा पंचगव्य प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने गुजरात व राजस्थान के सैकड़ों किसानों से पहले दूध मंगाया और अब उन किसानों व पशुपालकों का भुगतान को रोक दिया है. जिस कारण किसानों काफी परेशान हैं. इसके बाद पशुपालकों का आक्रोश फुट पड़ा और अब ये लोग धरने पर बैठ चुके है. 

इस कंपनी ने किसानों को दूध के बदले में पैसे देना मुनासिब नहीं समझा और करोड़ों रुपए ऐठ कर यें कंपनी अब किसानों को कोई भी जवाब देना उचित नहीं समझ रही है. ऐसे में अब किसान मजबूरन अपने घर को चलाने के लिए धरने पर बैठ चुके हैं और अपने दूध का पैसा लेने के लिए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

कंपनी का नाम पृथ्वीमेडा पंचगव्य प्राइवेट लिमिटेड है. जिसका सांचौद के बड़सम से संचालन किया जा रहा है. ये कंपनी दुध का मावा, घी, पनीर, गौमुत्र अर्क, बिस्कित, सभी प्रकार के डेयरी प्रोडक्ट सहित दुध से बनने वाली सभी मिठाईयां बनाती है.

लेकिन पेमेंट बाकी रहने के कारण राजस्थान सहित गुजरात के डीसा, धराद, समी सेन्टर सहित विभिन्न जिलों के पशुपालक विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. इस कंपनी का प्रत्येक महीने 2 करोड़ से अधिक का टर्नओवर है.

जानिए कंपनी का इतिहास
पृथ्वीमेडा पंचगव्य प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के वर्तमान डायरेक्टर मनीष अग्रवाल ने देश की सबसे बड़ी गौशाला पथमेड़ा गौशाला के कटुर दस्तावेज से 14 लाख का लोन दिखाकर गौशाला द्वारा चलाई जा रही डेरी को हड़प लिया. जिसका मामला जोधपुर हाई कोर्ट में चल रहा है और अभी कुछ दिनों पूर्व हाईकोर्ट नें मनीष अग्रवाल की जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया है.

आपको बता दें कि इस कंपनी के मालिक मनीष अग्रवाल ने देश की सबसे बड़ी गौशाला पथमेड़ा को भी पहले चुना लगाया और अब ये कंपनी किसानों के दूध का पैसा हड़पकर फरार होने की फिराक में है.ऐसे में अब देखने वाली बात होगी कि अगर समय रहते इस कंपनी के खिलाफ सरकार की ओर से कोई एक्शन लिया गया. तो ही किसानों को कुछ फायदा हो पाएगा. अन्यथा यह कंपनी कुछ दिनों में यहां से फरार हो जाएगी और किसानों के करोड़ों रुपए दूध के लेकर इस कंपनी का मालिक किसी अन्य जगह शिफ्ट हो जाएगा और किसान दर-दर की ठोकरें खाते रहेंगे.