close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जालौर: जानवरों की तरह घसीटा गया युवक का शव, तमाशबीन बनी रही पुलिस

पुलिस और नगर परिषद के कार्मिक के पास शव को हटाने को लेकर ऐसी कोई व्यवस्था या कपड़ा नहीं था. जिससे शव को ढक सके.

जालौर: जानवरों की तरह घसीटा गया युवक का शव, तमाशबीन बनी रही पुलिस

बबलू मीना, जालौर: शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र के सामतीपुरा रोड के रेलवे फाटक क्रॉसिंग के पास एक युवक ने मालगाड़ी के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली. रेल की चपेट में आने से युवक का शरीर टुकड़े-टुकड़े हो गया लेकिन इस दौरान कोतवाली पुलिस का एक ऐसा चेहरा सामने आया कि करीब 2 घंटे तक युवक का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा रहा लेकिन थाने से महज 1 किलोमीटर की दूरी होने के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची. 

पुलिस के पास शव को हटाने को लेकर कोई व्यवस्था नहीं की गई. वहीं शव को बिखरा देख न तो लोगों ने हाथ लगाया और ना ही किसी पुलिसकर्मियों ने इसी दौरान भीलड़ी - समदड़ी डेमू ट्रेन जालोर रेलवे स्टेशन से जोधपुर के लिए रवाना हो गई थी. नजदीकी स्टेशन से रवाना होने पर ट्रेन धीरे होने से रेलवे पटरी पर शव को देखकर रोक दी और शव हटाने को लेकर कहां गया. 

हालांकि, पुलिस और नगर परिषद के कार्मिक के पास शव को हटाने को लेकर ऐसी कोई व्यवस्था या कपड़ा नहीं था. जिससे शव को ढक सके. जिस पर ट्रेन से एक युवक सवारी यात्री ने नीचे उतर कर शव को पलटने के लिए कपड़ा दिया लेकिन पुलिस की मौजूदगी में नगर परिषद के कर्मचारियों ने शव को हटाने की वजह शव को कपड़े से हाथ बांधकर मृत पशु की तरह खींचते हुए पटरी से नीचे उतारा लेकिन पुलिस उसको देखकर तमाशबिन बनी रही. जिसके बाद पुलिस ने मृतक की शिनाख्त की तो सापनी निवासी मोहनलाल मेघवाल पुत्र दर्गाराम मेघवाल के रूप में हुई. जिसके बाद परिजनों को सूचना दी गई.