close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जालोर: आंगनबाड़ी कर्मचारियों के व्हाट्सएप ग्रुप पर गलत पोस्ट शेयर करने से मचा बवाल, पढ़ें खबर

महिला एवं बाल विकास विभाग जालोर के उप निदेशक अशोक विश्नोई का कहना है कि यह आंगनबाड़ी का ऑफिशियल ग्रुप नहीं है. 

जालोर: आंगनबाड़ी कर्मचारियों के व्हाट्सएप ग्रुप पर गलत पोस्ट शेयर करने से मचा बवाल, पढ़ें खबर
इस पोस्ट में ऐसे शब्दों को इस्तेमाल किया गया, जिसे कहीं से भी उचित नहीं कहा जा सकता.

जालोर: आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद भी जातिवाद का दंश समाज से खत्म नहीं हुआ है. ऐसी ही तस्वीर जालोर में आंगनवाड़ी के व्हाट्सएप ग्रुप में नजर आई. दरअसल, महिला एवं बाल विकास परियोजना के जालोर ब्लॉक कार्यालय के अधीन आंगनवाड़ी से संबंधित एक व्हाट्सएप ग्रुप बना हुआ है. 

जिसमें किसी शख्स ने बाबा साहेब आंबेडकर के द्वारा निर्मित संविधान को हटाओ की बात कह डाली. इतना ही नहीं इस पोस्ट में ऐसे शब्दों को इस्तेमाल किया गया, जिसे कहीं से भी उचित नहीं ठहराया जा सकता. इधर आंगनबाड़ी के अधिकारी इस तरह की बातों से इनकार कर रहे हैं लेकिन सवाल यही है कि क्या उच्च अधिकारी इस विषय में कोई कार्रवाई करेंगे या नहीं.

महिला एवं बाल विकास विभाग जालोर के उप निदेशक अशोक विश्नोई का कहना है कि यह आंगनबाड़ी का ऑफिशियल ग्रुप नहीं है. हालांकि, आंगनबाड़ी के ग्रुप में इस तरह के मैसेज फ्लोट होने की बात उन्होंने मानी है. उनका कहना है कि ग्रुप एडमिन के जरिए इस पोस्ट को हटाए जाने का निर्देश दे दिया गया है. 

ऑफिशियल ग्रुप पर इस तरह की बातें पोस्ट करने के सवाल पर अशोक विश्नोई का कहना है कि सूचनाएं पहुंचाने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को इस ग्रुप में शामिल किया जाता है लेकिन इस तरह की भ्रामक जानकारियां या किसी भी तरह का गलत कंटेंट न पोस्ट किया जाए इस बात का भी ख्याल रखा जाएगा.