जम्मू कश्मीर: गुलमर्ग में हिमस्खलन में 2 आर्मी पोर्टर्स की मौत

शनिवार रात को गुलमर्ग की हिम्मत पोस्ट पर हुआ था हिमस्खलन, रविवार को शव हुए बरामद 

जम्मू कश्मीर: गुलमर्ग में हिमस्खलन में 2 आर्मी पोर्टर्स की मौत
(फाइल फोटो)

श्रीनगर : उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले में सेना के 2 पोर्टरों की हिमस्खलन की चपेट में आने से मौत हो गई. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बारामूला जिले के बनाली बियोनियर उड़ी के रहने वाले इश्फाक अहमद और सज्जाद अहमद के रूप में पहचाने जाने वाले दो आर्मी पोर्टर्स के शव को सोमवार को सुबह गुलमर्ग के ऊपरी इलाके अपरवठ में बरामद किये गए. पुलिस के मुताबिक यह हिमस्खलन शनिवार और रविवार के बीच रात को हुआ था और इसकी चपेट में सेना के साथ काम करने पोर्टर आ गये थे. यह हिमस्खलन गुलमर्ग के अपरवठ इलाके में स्थित सेना की हिम्मत पोस्ट के पास हुआ था.  

अधिकारी ने कहा कि यह पोस्ट सेना की 11 गढ़वाल रेजिमेंट की हैं, जहां वे हिमस्खलन की चपेट में यह दोनों आ गये थे,और दोनों पोर्टरों के शव सोमवार सुबह बर्फ के मलबे से बरामद किए गए.

कश्मीर में गुरुवार को मौसम की पहली बर्फबारी हुई थी, जिसके कारन कश्मीर में तापमान में भारी गिरावट दर्ज हुवी हैं. जिसने घाटी में कड़ाके की ठंड को जनम दिया हैं. लोगों को कठिन समय का सामना करना पड़रहा हैं ,घाटी में बिजली की सप्लाई भूरी तरह प्रभावित हुई हैं.

मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार सबसे ज्यादा बर्फबारी 4.5 फीट गुलमर्ग में दर्ज की गई. वही श्रीनगर में लगभग 1 फीट बर्फ दर्ज की गई थी. भारी बर्फबारी और कड़ाके की ठण्ड ने स्थानीय निवासियों को घरों के अंदर रहने के लिए मजबूर कर दिया है. स्थानीय लोगों ने सर्दियों के लिए प्रशासन की ना तैयारियों के लिए दोषी ठहराया. घाटी पिछले तीन दिनों से देश  हिसों से कटा हुवा हे कियुकी की तीनों राष्ट्री राजमार्ग यातायात के लिए बांध पड़े हैं. हवाई यातायात दो दिन बाद बहाल किया गया हैं जब की उड़ाने काफी देरी से चल रही हैं. 

वही मौसम विभाग के मुताबिक घाटी 13 नवंबर तक बादल छाए रहेंगे.जम्मू-कश्मीर और कारगिल के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बर्फबारी होने की फिर सम्भावना हैं. लद्दाख क्षेत्र में 14 नवंबर रात से 16 वीं रात के दौरान सबसे अधिक संभावना है. इनसे भूस्खलन हो सकता है, लेह -श्रीनगर, श्रीनगर -जम्मू राजमार्गों पर असर पड़ सकता हैं.