close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

J-K: रामबन ऑपरेशन में सैन्य बलों को मिली बड़ी सफलता, मारे गए तीनों आतंकी, बंधक भी सेफ

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में इमरान खान (Imran Khan) ने भाषण के अगले ही दिन यानी आज महज 3 घंटों के अंदर जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में तीन आतंकी (terrorist) हमले हुए हैं

J-K: रामबन ऑपरेशन में सैन्य बलों को मिली बड़ी सफलता, मारे गए तीनों आतंकी, बंधक भी सेफ
ऑपरेशन की सफलता का जश्न मनाते सुरक्षा बलों के जवान

जम्मू: संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में इमरान खान (Imran Khan) ने भाषण के अगले ही दिन यानी आज महज 3 घंटों के अंदर जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में तीन आतंकी (terrorist) हमले हुए हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक गांदरबल (Ganderbal) में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया है. श्रीनगर और डोडा में आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया. आतंकी हमले के बाद डोडा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई और आतंकियों की तलाशी के लिए अभियान चलाया गया. बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) के रामबन जिले के बटोत किश्तवाड़ राष्ट्रीय राजमार्ग इलाके में आज सुबह गश्ती दल पर हमले के बाद सुरक्षाकमियों ने तलाशी अभियान चलाते हुए हमलावर आंतकियों को घेर लिया था जिसके बाद दोनों ओर से फायरिंग शुरू हो गई थी.

ऑपरेशन के बारे में बताते हुए जम्मू (Jammu) के आईजी मुकेश सिंह ने कहा, "3 आतंकवादी (terrorist) मारे गए हैं, इस ऑपरेशन भारतीय सेना (Indian Army) का एक जवान शहीद हुआ जबकि 2 पुलिस के जवान घायल हुए. बंधक को छुड़ा लिया गया है. ऑपरेशन खत्म हो चुका है. मारे गए आतंकवादी जाहिद, ओसामा और हारून थे. 1 सिविलियन को रेस्क्यू किया गया है जिसे बंधक बनाया गया था. ये वही आतंकी हैं जो सुबह जंगल में नजर आए थे. केवल तीन ही आतंकी थे." गौरतलब है कि इससे पहले कई आतंकियों के मौजूद होने की आशंका जताई जा रही थी.

रामबन ऑपरेशन के बारे में बताते हुए सीआरपीएफ के डीआईजी पीसी झा ने कहा, "हमें इनफॉर्मेशन मिला कि इन्होंने कुछ होस्टेज बना लिए थे. प्राथमिकता थी कि पहले होस्टेज बचाया जाए. ये हमारे जवानों का बहुत बड़ा सक्सेज है. ओसामा के पीछे हम लोग बहुत दिनों से थे."

देखें लाइव टीवी

आपको बता दें कि शनिवार सुबह करीब 6 बजे जम्मू-डोडा की ओर जाने वाले सड़क पर चकवा पुल इलाके में 2-3 तीन आंतकवादियों ने आर्मी की पैट्रोलिंग पार्टी को निशाना बनाते हुए ग्रेनेड हमला किया, जिसके बाद उन्होंने सेना पर फायरिंग शुरू कर दी. इस दौरान सेना के जवानों ने सर्तकता दिखाते हुए जवाबी कार्रवाई की जो लगभग 10 से 15 मिनट तक जारी रही. हालांकि, आंतकी ने घने जंगलों का फायदा उठाते भागने में कामयाब रहे.

इसके बाद सेना की ओर से आंतकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू किया गया. स्थानीय लोगों को अपने घरों से बाहर न आने की हिदायतें दी गई और कुछ संवेदनशील स्थानों से लोगों को अपने घरों से बाहर निकाला दिया गया. इसके अलावा डोडा-किशतवाड़ हाइवे को वाहनों की आवाजाही को ऐतिहातन बंद कर दिया गया. ज्ञात रहे कि चकवा नाले के पास ही आर्मी की डेल्टा फोर्स का बड़ा हेडक्वार्टर है. जहां से तुरंत सेना के अधिकारी व जवान घटनास्थल की ओर रवाना हो गए और आंतकियों के लिए सर्च आपरेशन किया गया. इस अभियान में सेना के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ भी जुटी हुई थी.