close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झालावाड़: स्कूल में बच्चे साफ कर रहे थे टॉयलेट और बर्तन, अभिभावकों ने किया हंगामा

स्थानीय लोगों की सूचना के बाद यह मामला सामने आया. जिसकी जानकारी मिलने के बाद नाराज अभिभावकों ने काफी हंगामा किया.

झालावाड़: स्कूल में बच्चे साफ कर रहे थे टॉयलेट और बर्तन, अभिभावकों ने किया हंगामा
झालावाड़ के संस्कृत उच्च माध्यमिक विद्यालय में इस तरह का मामला सामने आया है.

झालावाड़: झालावाड़ शहर (Jhalawar City) के संस्कृत उच्च माध्यमिक विद्यालय में छात्रों से बर्तन से लेकर टॉयलेट साफ करवाने का मामला सामने आया है.

मामले का खुलासा उस समय हुआ जब संस्कृत विद्यालय के समीप रहने वाले एक परिवार ने अपने मकान से हैरान कर देने वाली तस्वीरें खींची, जिसमें विद्यालय के छात्रों से परिसर की साफ-सफाई, कचरा उठाना, टॉयलेट साफ करवाना तथा बर्तन धुलवाने तक के कार्य करवाए जा रहे थे. इसकी जानकारी मिलने के बाद नाराज अभिभावकों ने संस्कृत विद्यालय में काफी हंगामा किया. अभिभावकों ने विद्यालय प्रशासन (School Administration) पर बच्चों के मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाए.

उधर पूरे मामले पर विद्यालय प्रशासन ने अभिभावकों के आरोपों को नकारते हुए इसे झूठा और बेबुनियाद बताया. विद्यालय के प्रभारी ने कहा कि छात्रों को सामाजिक कार्यों के प्रशिक्षण हेतु इस तरह के कार्य सभी विद्यालयों में करवाए जाते हैं, कभी गृह कार्य नहीं करने पर बच्चों को डांटा भी जाता है, जिसे मानसिक उत्पीड़न नहीं कहा जा सकता.

प्रभारी का कहना है कि बच्चों की शिक्षा के लिए बेहतर अध्यापन कार्य संस्कृत विद्यालय(Sanskrit School)में किया जा रहा है. अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी ने इस मामले की जानकारी नहीं होने की बात कही. इस दौरान उन्होंने घटना पर मामले को दिखाने की बात कही.