close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं: चीफ इंजीनियर ने दिया उपभोक्ता संतुष्टि का संदेश,पावर सप्लाई पर रखेंगे नजर

प्रदेश में अभी बिजली की कमी नहीं है इसलिए जरूरी हो जाता है कि दिवाली के दिन बिना कोई एक ट्रिप के उपभोक्ताओं को पूरी और भरपूर बिजली मिले.

झुंझुनूं: चीफ इंजीनियर ने दिया उपभोक्ता संतुष्टि का संदेश,पावर सप्लाई पर रखेंगे नजर

संदीप केडियाझुंझुनूं : अजमेर डिस्कॉम के चीफ इंजीनियर पद पर कार्यभार ग्रहण करने के बाद आज एके गुप्ता झुंझुनूं पहुंचे. वैसे तो उन्होंने कल अजमेर ही अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया लेकिन दिवाली को देखते हुए वह आज छुट्टी के दिन अपने झुंझुनूं स्थित कार्यालय पहुंचे और अभियंताओं के साथ चर्चा की. 

उन्होंने कहा कि दिवाली एक ऐसा त्यौहार होता है जो बिना रोशनी के नहीं मनाया जाता. ऐसे में इस दिन गुणवत्तापूर्ण बिजली सभी उपभोक्ताओं को मिले और ट्रिपिंग ना हो. इसके लिए वह खुद दिवाली के पूजन तक झुंझुनूं ही रहेंगे. वह ना केवल झुंझुनूं और सीकर की पॉवर सप्लाई पर खुद नजर रखेंगे बल्कि सप्लाई के वोल्टेज पर की भी मॉनेटरिंग करेंगे. उन्होंने कहा कि दिवाली पर खपत होने वाली बिजली की स्थिति अब पहले जैसी नहीं रही. 

पहले पुराने बल्ब से ज्यादा बिजली खपत होती थी लेकिन अब एलईडी से यह कम हुई है. वहीं प्रदेश में अभी बिजली की कमी नहीं है इसलिए जरूरी हो जाता है कि दिवाली के दिन बिना कोई एक ट्रिप के उपभोक्ताओं को पूरी और भरपूर बिजली मिले. उन्होंने झुंझुनूं में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि उन्हें सूचना मिली है कि झुंझुनूं शहर में ही ट्रिपिंग की समस्या है. यह वास्तव में चिंतनीय है क्योंकि जब प्रोजेक्ट के तहत इतना पैसा खर्च हो गया. इसके बाद भी ट्रिपिंग सही नहीं है. 

इसे लेकर शहर में कार्यरत अभियंताओं से बात करेंगे और जो भी तकलीफें आ रही है उन्हें दूर की जाएगी. उन्होंने बताया कि निगम के साथ साथ उनका भी फोकस रहेगा कि छीजत में कमी लाई जाए और रिकवरी ज्यादा से ज्यादा हो. उन्होंने कहा कि उपभोक्ता की संतुष्टि पहला उद्देश्य है. इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए दिवाली पर उन्होंने पहले उपभोक्ताओं की दिवाली रोशनी में मनवाने का फैसला लिया है. इसके बाद वह अपने घर जाकर दिवाली मनाएंगे. इससे पहले झुंझुनूं पहुंचने पर विद्युत वितरण निगम श्रमिक संघ के पदाधिकारियों ने भामसं के जिला मंत्री रामगोपाल शर्मा के नेतृत्व में उनका स्वागत किया. वहीं इंजीनियरों ने भी गुप्ता का स्वागत किया. 

गत साल के मुकाबले मांग बढ़ी, सेल को भी देखना है
बातचीत के दौरान चीफ इंजीनियर एके गुप्ता ने बताया कि गत साल के मुकाबले इस माह में झुंझुनूं में बिजली की मांग बढ़ी है लेकिन मांग के मुकाबले सेल कितनी हुई है? हमें इस पर भी ध्यान रखना है. साथ ही उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं की संतुष्टि, अच्छी गुणवत्ता की बिजली और मांगे जाने पर कनेक्शन के सिद्धांत पर उनकी वर्किंग स्टाइल होगी. इसके लिए उन्होंने 31 अक्टूबर को एईएन स्तर के अभियंताओं की बैठक भी बुलाई है. जिसमें ग्रामीण उपभोक्ताओं को छह घंटे थ्री फेज और 24 घंटे सिंगल फेज बिजली देने, 50 यूनिट खपत करने वाले उपभोक्ताओं की जांच करने, चल रहे कार्यक्रमों की समीक्षा की जाएगी.