close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जोधपुर: दिवाली से पहले बच्चों में AK-4700 पटाखों का बढ़ा क्रेज, जमकर हो रही बिक्री

पटाखों की दुकान पर आने वाले बच्चों और अभिभावकों ने बताया कि वह ईको फ्रेंडली पटाखे और पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाने वाले पटाखों के साथ-साथ एके-47 के पटाखे खरीदना पसंद करते हैं

जोधपुर: दिवाली से पहले बच्चों में AK-4700 पटाखों का बढ़ा क्रेज, जमकर हो रही बिक्री
इस बार शॉप पर आते ही बच्चे एके-47 पटाखों की मांग कर रहे हैं.

अरुण हर्ष, जोधपुर: दीपावली में महज 3 दिन का समय बचा है. ऐसे में बाजारों में रौनक छाई हुई है. वहीं पटाखों की दुकान पर पटाखे खरीदने के लिए लोगों में काफी उत्साह नजर आ रहा है. हर बार मार्केट में चाइनीज पटाखों का आधिपत्य रहता है लेकिन इस बार जोधपुर में चाइनीज पटाखों की जगह इको फ्रेंडली पटाखे, और एके-47 के पटाखे (मोदी पटाखे) पहली पसंद बने हुए हैं.

AK47 का नाम आते ही आप सभी के जेहन में सीमा पार गोलीबारी करते बहादुर सैनिकों के चेहरे नजर आ जाते हैं लेकिन इस बार आपको दीपावली पर भी एके-47 के धमाकों की गूंज सुनाई देगी. एके-47 पटाखों की मांग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि दीपावली से 3 दिन पहले ही सारा स्टॉक खत्म हो चुका है लेकिन अभी भी इन पटाखों की मांग बनी हुई है. होलसेल पटाखा विक्रेता विकास चांडक ने बताया कि इस बार पटाखों को लेकर बच्चों में खासा क्रेज है. 

हर बार बच्चे जहां कार्टून ओर अभिनेताओं के पटाखे मांगते हैं. वहीं इस बार शॉप पर आते ही वह एके-47 पटाखों की मांग कर रहे हैं. बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पूरे देश में जिस तरह से देश भक्ति का ज्वार उमड़ पड़ा था उसके बाद यह सिलसिला अभी भी बना हुआ है. विकास चांडक ने बताया कि उन्होंने इस बार कई पटाखे मंगाए लेकिन एके 47 पटाखों के आगे सभी पटाखों की बिक्री काफी कम है. इस बार पर्यावरण का ध्यान रखते हुए कंपनियों ने भी ईको फ्रेंडली पटाखे बनाए हैं जिससे दीपावली के अवसर पर होने वाले प्रदूषण से बचा जा सके.

पटाखों की दुकान पर आने वाले बच्चों और अभिभावकों ने बताया कि वह ईको फ्रेंडली पटाखे और पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाने वाले पटाखों के साथ-साथ एके-47 के पटाखे खरीदना पसंद करते हैं. अभिभावकों ने बताया कि बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जिस तरह से टीवी पर डिबेट शुरू हुई थी उसके बाद से ही बच्चों में देशभक्ति का भाव हिलोरे ले रहा है. जब भी राष्ट्र प्रेम से जुड़ा कोई भी इशु उनके सामने आते हैं तो वह पूरी सक्रियता के साथ उस में भाग लेते हैं और दीपावली के अवसर पर जब उन्होंने एके-47 पटाखों के बारे में सुना तब से बच्चों में काफी उत्साह है. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में भारत का नाम रोशन किया है इसलिए वह नरेंद्र मोदी के प्रशंसक भी हैं.

एक ओर जहां चाइनीज पटाखों की बिक्री कम होने से स्थानीय पटाखा विक्रेताओं को रोजगार मिल रहा है वहीं दूसरी ओर ईको फ्रेंडली पटाखे बाजार में आने से पर्यावरण प्रदूषण को भी काफी हद तक कम किया जा सकेगा.