close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बागी विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का कर्नाटक BJP ने किया स्वागत

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस व जेडीएस के बागी विधायकों की संयुक्त याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें विधानसभा की कार्यवाही और विश्वास मत के दौरान सदन से बाहर रहने की छूट दे दी है.

बागी विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का कर्नाटक BJP ने किया स्वागत
बीजेपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष बी.एस. येदियुरप्पा (फाइल फोटो)

बेंगलुरु: भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक इकाई ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा बागी विधायकों के पक्ष में सुनाए गए फैसले का स्वागत करते हुए इसे लोकतंत्र की जीत बताया.

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस व जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के बागी विधायकों की संयुक्त याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें विधानसभा की कार्यवाही और विश्वास मत के दौरान सदन से बाहर रहने की छूट दे दी है.

बीजेपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष बी.एस. येदियुरप्पा ने कहा, 'हम फैसले का स्वागत करते हैं, जो लोकतंत्र और संविधान की जीत है. विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने से बेहतर है कि कुमारस्वामी इस्तीफा दे दें. उनकी गठबंधन सरकार के पास बहुमत साबित करने के लिए सदन में पर्याप्त सदस्यों की संख्या नहीं है.'

येदियुरप्पा ने कहा, 'व्हिप उन 15 विधायकों पर लागू नहीं होगा, जिन्होंने इस्तीफा दे दिया है. उन्हें विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता.'

गुरुवार को बदल जाएगा समीकरण
गुरुवार को 15 विधायकों के विधानसभा नहीं पहुंचने पर पूरा समीकरण ही बदल जाएगा. कर्नाटक की 224 सदस्यीय विधानसभा में तब कुल 209 सदस्य रह जाएंगे. 

अगर 6 जुलाई को इस्तीफा देने वाले एक अन्य कांग्रेस विधायक आर.रामलिंगा रेड्डी भी सत्र से दूर रहे तो एक सदस्य और भी कम हो जाएगा. इस स्थिति में बहुमत के लिए महज 105 विधायकों की दरकार रह जाएगी.

वहीं दूसरी ओर सत्तारूढ़ गठबंधन के पास संख्या बल घटकर 101 का रह गया है, जिस कारण सरकार बहुमत साबित करने में असफल हो जाएगी. इस स्थिति का फायदा उठाते हुए बीजेपी निर्दलीय विधायकों की मदद से सरकार बनाने में सक्षम होगी.

'गठबंधन सरकार अल्पमत में है'
येदियुरप्पा ने कहा, 'गठबंधन सरकार अल्पमत में है और उसने 18 विधायकों का विश्वास खो दिया है, जिनमें 16 बागी और दो निर्दलीय विधायक शामिल हैं.'  इसके अलावा बीजेपी नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार ने कहा कि अस्थिर गठबंधन सरकार राज्य में अराजकता का कारण बन रही थी, यही वजह है कि इसके 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया.